Home » हेल्थ केयर टिप्स » Plastic teabags harmful for heath it release billions of tiny particles
 

टी-बैग वाली चाय पीते हैं तो हो जाएं सावधान, इसके इस्तेमाल से जा सकती है आपकी जान

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 September 2019, 14:12 IST

कुछ लोगों को चाय पीने की आदत होती है. ऐसे में वह टी-बैग वाली चाय पीने से भी गुरेज नहीं करते हैं. लेकिन वह ये भूल जाते हैं कि टी-बैग वाली चाय का ये चस्का उनकी जान का कितना दुश्मन है. दरअसल, एक शोध में इस बात का खुलासा हुआ है कि टी-बैग में छोटे-छोटे प्लास्टिक के टुकड़े होते हैं.

बता दें कि प्‍लास्टिक वातावरण को प्रदूषित करने के साथ-साथ हमारी चाय के कप के साथ भी शरीर में पहुंच जाती है और हमें बीमार बनाती है. बता दें कि हाल ही में हुए शोध में ये खुलासा हुआ है. टी बैग चाय के साथ अरबों छोटे-छोटे प्लास्टिक के कण होने से हमारे स्वास्थ्य पर ये खतरनाक असर डालता है. शोधकर्ताओं ने पाया कि टी बैग में मौजूद प्लास्टिक की वजह से पानी में मौजूद जीवाणु असामान्य तरीके से पनपते हैं और अजीब व्यवहार करते हैं.

यह खुलासा मैकगिल यूनिवर्सिटी में कनाडा के शोधकर्ताओं के एक समूह ने किया है. हालांकि, आमतौर पर टी बैग पेपर के बने होते हैं, लेकिन इन टी बैगों को सील करने के लिए पॉलीप्रोपेलीन का इस्तेमाल किया जाता है, जो प्लास्टिक का एक प्रकार है. टी बैग में मौजूद यह पार्टिकल माइक्रो और नैनो आकार के होते हैं और इंसानी बालों से भी 750 गुना होता है.

शोधकर्ताओं ने पाया कि कई चाय ब्रांड प्लास्टिक से बने टी बैग का उपयोग करते हैं, जो सेहत के ल‍िए खतरा हो सकते हैं. शोधकर्ता यह पता लगाना चाहते थे कि गर्म होने पर टी बैग चाय में कितना माइक्रोप्लास्टिक छोड़ते हैं. ऐसा करने के लिए उन्होंने प्लास्टिक के चार अलग-अलग टी बैग में पैक खरीदे.

शोधकर्ताओं ने टी बैग को 203° फॉरेनहाइट तापमान पर पानी के विशेष कंटेनरों में गर्म किया. इसके बाद उन्होंने इलेक्ट्रॉनिक माइक्रोस्कोप से देखा कि एक टी बैग से करीब 11.6 बिलियन माइक्रोप्लास्टिक के टुकड़े और 3.1 बिलियन (करीब 300 करोड़) नैनो प्लास्टिक के कण पाए गए. जिससे ये पता चला कि टी-बैग वाली चाय इंसानों की सेहत को नुकसान पहुंचा सकती है.

किडनी खराब होने से पहले शरीर में दिखाई देने लगते हैं ये लक्षण, कहींं आपके साथ भी तो नहीं हो रहा ऐसा

First published: 28 September 2019, 14:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी