Home » हेल्थ केयर टिप्स » pregnant women must follow the diet chart for good heath of herself and newborn baby
 

गर्भावस्था के दौरान महिलाएं गलती से भी ये चीज नज़रअंदाज़ ना करें

न्यूज एजेंसी | Updated on: 7 September 2018, 18:54 IST

गर्भावस्था ऐसा समय है जब मां को अच्छे पोषण की जरूरत होती है.  इस दौरान सही पोषण बच्चे के विकास और मां के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए जरूरी है. माताओं को ध्यान रखना चाहिए कि उनके पोषण में विटामिन और मिनरल्स की कमी न हो.

गर्भावस्था के दौरान सही डायट चार्ट बनाना और उसका पालन करना जरूरी है. गर्भवती माताओं के लिए अपने पोषण की जरूरतों का खास ध्यान रखने में मदद करने के लिए अपोलो हॉस्पिटल्स की सीनियर कन्सलटेन्ट, न्यूट्रिशनिस्ट डॉ. प्रियंका रोहतगी ने इस बाबत कुछ सुझाव दिए है.

1- गर्भावस्था के दौरान आप जो भी आहार लेती हैं, उससे न केवल आपके शरीर को पोषण मिलता है, बल्कि आपके पेट में पल रहे बच्चे का भी विकास होता है. हर दिन के साथ आपकी मैक्रो एवं माइक्रो न्यूट्रिएन्ट्स की जरूरत बढ़ती जाती है.

2-आपको हर ग्रुप का भोजन अपने आहार में शामिल करना चाहिए. इससे आपके लिए यह ध्यान में रखना आसान हो जाता है कि आप क्या खा रही हैं. जरूरी है कि हर भोजन में कम से कम तीन ग्रुप संतुलित मात्रा में शामिल हों. जंक फूड के सेवन से बचें क्योंकि इससे बेवजह आपका वजन बढ़ेगा और पोषक पदार्थों की कमी होगी.

3- आमतौर पर हमारे देश में गर्भावस्था के दौरान ऐसा खाना खाने की सलाह दी जाती है, जो बहुत सारे घी में बना हो.      हालांकि इस तरह के आहार के अपने फायदे हैं, लेकिन इसका सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए, नहीं तो          वजन तेजी से बढ़ता है और बच्चे के जन्म के बाद वजन कम करना बहुत मुश्किल हो जाता है. इस दौरान सक्रिय      रहें और सेहतमंद आहार लें।

4- आपके आहार में सभी समूहों के पोषक पदार्थ शामिल होने चाहिए जैसे काबोर्हाइड्रेट, प्रोटीन, विटामिन व                मिनरल्स और डेयरी उत्पाद.

5- इसके साथ डॉ. प्रियंका रोहतगी ने अपनी भूख को ठीक तरह से प्रबंधित करने के सुझाव दिए हैं, जैसे 

6-गर्भावस्था के दौरान महिला को बहुत ज्यादा भूख लगती है और ज्यादातर महिलाएं भूख लगने पर जंक फूड और         अस्वास्थ्यप्रद आहार खाना चाहती हैं.  ऐसे भोजन में काबोहाइड्रेट/ वसा तो भरपूर मात्रा में होते हैं लेकिन पोषक      पदार्थो की कमी होती हैै. ऐसे में अपने आहार पर ध्यान देना जरूरी है.

7- इसी तरह अगर आपको कोई भोजन अच्छा नहीं लग रहा, जो आपकी सेहत और बच्चे के विकास के लिए जरूरी है       तो अपने डायटीशियन से बात कर इसका कोई विकल्प लें ताकि आपकी पोषण संबंधी सभी जरूरतें पूरी हो सकें. 

8- दिन में दो से तीन बार भरपेट खाने के बजाए कम मात्रा में बार-बार खाएं. इससे पाचन की समस्या भी नहीं होगी.         इसके अलावा नियमित रूप से थोड़ा बहुत व्यायाम करें, जिससे शरीर में हॉर्मोनों का संतुलन बना रहेगा और आप         गर्भावस्था के दौरान फिट और चुस्त बनी रहेंगी.

First published: 7 September 2018, 18:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी