Home » हेल्थ केयर टिप्स » These Plants Keep Dengue Malaria Chikungunya Mosquitoes Away From You Naturally
 

डेंगू-मलेरिया के मच्छरों को आपके घर से दूर रखेंगे ये पौधे, मन को मोह लेती हैं इनकी महक

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 September 2018, 11:05 IST

मानसून का मौसम हर किसी को पसंद है. लेकिन इस बारिश के बाद पैदा होने वाले खतरनाक मच्छर डेंगू और मलेरिया जैसी बीमारियां फैलाना शुरु कर देते हैं. ऐसे हर घर में डेंगू और मलेरिया का प्रकोप फैल जाता है. और आपको मानसूनी मौसम पर गुस्सा आने लगता है, लेकिन आज हम आपको कुछ ऐसे पौधों के बारे में बताने जा रहे हैं जो मानसून के मौसम में डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया के मच्छरों को आपसे दूर रखेंगे.

तुलसी

तुलसी के पत्ते हिंदू धर्म में पूजा के लिए प्रयोग किए जाते हैं, इसकी पत्तियां चाय में डालने से की फायदे होते हैं. बता दें कि तुलसी का पौधा एक मॉस्किटो रिप्लीयन्ट भी है. तुलसी एक ऐसी जड़ी बूटी है जो कि अपने आप ही अपनी खुशबु फैलाती है. मच्छरों को दूर रखने के लिए तुलसी के पौधे को गमले में उगाकर बालकनी में रखना चाहिए.

गेंदा

आपने अपने आसपास गेंदे के फूल तो देखे ही होंगे, लेकिन शायद आपको पता नहीं होगा कि ये गेंदे के फूल आपको मच्छर और मक्खी के आतंक से निजात दिला सकते हैं. बता देंकि गेंदे के फूलों की गंध मक्खी-मच्छरों को पसंद नहीं होती है. ये पौधे 6 इंच से 3 फीट तक बढ़ते हैं. गेंदें के पौधे अफ्रीकन और फ्रेंच दो तरह के होते हैं ये दोनों ही मॉस्किटो रिप्लीयन्ट हैं. गेंदे के फूल पीले से डार्क ऑरेंज और लाल रंग के होते हैं. इसलिए आप भी अपने घर पर गमले में गेंदे का पौधा लगा सकते हैं और मच्छर-मक्खियों से निजात पा सकते हैं.

 

लैवेंडर

मच्छरों को दूर रखने के लिए लैवेंडर सबसे अच्छा पौधा है और ये आसानी से उग भी जाता है. इसे ज्यादा देखभाल की जरूरत भी नहीं पड़ती है. यह पौधा 4 फीट तक लंबा हो सकता है. केमिकल फ्री मॉस्किटो सोल्युशन बनाने के लिए लैवेंडर ऑयल को पानी में मिलाकर सीधे स्किन पर लगा सकते हैं.

रोजमेरी

रोजमेरी एक ऐसा पौधा है जो आपको मच्छरों से तो बचाएगा ही साथ ही इसकी खुशबू आपके मन को मोह लेगी. बता दें कि रोजमेरी अपने आप में एक प्राकृतिक मॉस्किटो रिप्लीयन्ट हैं. रोजमेरी के पौधे 4-5 फीट लंबे होते हैं और इनके फूलों का रंग नीला होता है. मच्छरों से बचने के लिए रोजमेरी मॉस्किटो रिप्लीयन्ट की 4 बूंदों को 1 चौथाई जैतून के तेल के साथ मिलकर भी लगाया जा सकता है.

सिट्रोनेला ग्रास

सिट्रोनेला ग्रास मच्छरों को दूर करने का सबसे अच्छा तरीका है. यह 2 मीटर तक लंबी हो जातीहै. इसके फूलों का रंग लॅवेंडर होता है. इस घास से निकलने वाला सिट्रोनेला ऑयल मोमबत्तियों, परफ्यूम्स, लैम्प्स आदि हर्बल प्रोडक्ट्स में इस्तेमाल किया जाता है. सबसे अच्छी बात यह है कि सिट्रोनेला ग्रास डेंगू पैदा करने वाले एडीज एजिप्टी मच्छरों को भी आपसे दूर रखने में मदद करती है.

तो बारिश के इस मौसम में आप भी मच्छरों के प्रकोप से परेशान हैं तो इन पौधों को अपने घर में जरूर लगाएं. ये पौधे आपको मच्छरों से दूर तो रखेंगे ही. साथ ही घर इनकी खुशबू से महक उठेगा. यही नहीं सुबह की ताजा और शुद्ध हवा भी आपके स्वास्थ्य के लिए मिलेगी. तो हो सकके तो इन सभी पौधे को आप भी अपने घर में लगा लगाएं.

ये भी देखें- इन चीजों का करेंगे इस्तेमाल तो कभी बीमार नहीं पड़ेंगे आप, बनी रहेगी इम्युनिटी

First published: 4 September 2018, 11:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी