Home » हेल्थ केयर टिप्स » tomato is essential for reducing hair fall and pimples benefits of tomato health tips oily skin
 

बेदाग चेहरा और खूबसूरत बालों के लिए इस्तेमाल करें ये चीज

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 January 2018, 15:00 IST

खबसूरत दिखना कौन नहीं चाहता. लेकिन इस भागदौड़ भरी जिंदगी में हम अपने चेहरे की ठीक से देखभाल नहीं कर पाते. लेकिन हम आज आप को बतातेंगे चेहरे के देखभाल करने के कुछ घरेलू उपाय. जिसके लिए आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी. जिससे आपकी मनी सेविंग भी होगी और आपका चेहरा भी दमक उठेगा.

किस चीज की पड़ेगी जरूरत-

टमाटर-

हम सब जानते हैं कि टमाटर में विटामिन A,B, C और K, पोटेशियम, मैग्नीशियम और फास्फोरस अच्छी मात्रा होती है. जो हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है. टमाटर पेट और दिल को हेल्दी रखने में मदद करता है और कैंसर कोशिकाओं को भी मारता है. सेहत के इन फायदों के अलावा टमाटर आपकी खूबसूरती बढ़ाने में भी मदद करता है. इसका सही तरीके से इस्तेमाल आपकी स्किन को खूबसूरत और जवां बनाए रख सकता है.

-कैसे करना है टमाटर का इस्तेमाल

1. धूप से चेहरा जलने करें यूज

अगर आपका चेहरा धूप की तेज़ किरणों से काला पड़ जाए तो टमाटर चेहरे पर रगड़ें. इसके लिए टमाटर की एक स्लाइस लें और इसे चेहरे पर हफ्ते में तीन से चार बार रगड़ें. आपकी टैनिंग पूरी तरीके से खत्म हो जाएगी.

2. मुहांसों को करेगा खत्म

ऑयली स्किन वाले लोगों को मुहांसे की समस्या सबसे अधिक होती है. टमाटर में मौजूद विटामिन A,B,C और K चेहरे के एक्सेस ऑयल को कम करने में मदद करते हैं. इसे रोज़ाना चेहरे पर लगाने से एक्से की परेशानी खत्म हो जाती है. इसके लिए टमाटर के टुकड़े को सर्कुलर मोशन में रगड़ें. थोड़ी देर बाद ठंडे पानी से धो लें. 

3. जड़ से खत्म होगा डैंड्रफ

टमाटर आपके सिर से डैंड्रफ खत्म कर हेयर फॉल रोकता है और उन्हें शाइनी बनाता है. इसके लिए टमाटर का छिलका और बीज निकालकर उसके गूदे को अच्छे से मिक्सी में पीसे और इससे बालों की मसाज करें

4. पोर्स (रोम छिद्र) करे छोटे

खूबसूरत चेहरे पर पोर्स बहुत खराब दिखाई देते हैं. पोर्स को कम करने में भी टमाटर बहुत कारगर है. बस आपको रोजाना टमाटर के जूस को अपने चेहरे पर लगाना है.

5. ऑयली स्किन के लिए बेस्ट

टमाटर बड़े पोर्स को कम करने के साथ-साथ चेहरे के एक्सेस ऑयल को भी कम करता है. इससे चेहरे के ऑयल प्रोडेक्शन धीरे-धीरे कम हो जाता है, इससे पिंपल्स और एक्ने की परेशानी भी कम होती है.

First published: 19 January 2018, 15:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी