Home » हेल्थ केयर टिप्स » Wearing dirty shoes indoors could protect children from asthma
 

घर में बच्चे करते हैं गंदे जूतों से चहल-पहल तो रोकें नहीं, ये जानलेवा बीमारी होगी दूर

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 June 2019, 14:11 IST

अक्सर बच्चे घरों में गंदे जूते पहनकर चहल-पहल करना शुरू कर देते हैं. अगर आपके बच्चे भी ऐसे हैं, तो उसे डाटे नहीं, क्योंकि वे ऐसा करते अस्थमा से बचते हैं.

हाल ही में एक ऐसा रिसर्च आया है, जो बेहद ही चौंकाने वाला है. शोध में पता चला है कि अगर घर में गंदे जूते पहनकर बच्चे चहल-पहल करते हैं, तो ये अस्थमा के रोगियों के लिए बेहद ही फायदेमंद होता है. इसकी वजह से अस्थमा के बैक्टीरिया मिट्टी में लचीले हो जाते हैं. 

ऐसी स्थिति में अगर बच्चे गंदे जूते से घर में इधर-उधर चहल-पहल करेंगेस, तो अस्थमा जैसी बीमारी कम होने की संभावना होती है. 

रिसर्च के मुताबिक, मिट्टी में कई तरह की जीवधारी संरचनाएं पाई जाती हैं, जो कि बच्चों को अस्थमा से दूर करता है. इस स्थिति में यदि घर के अंदर बैक्टीरिया लचीले ढंग से रहेंगे तो बच्चों में फेफड़ों संबंधित किसी भी रोग के होने की संभावना कम रहेगी.

इस रिसर्च में रिसर्चर्स ने फिनलैंड और जर्मनी के करीब 1400 परिवारों के घर से बैक्टीरिया का विश्लेषण किया. इससे खुलासा हुआ कि घर में अगर बच्चे गंदे जूते पहनते हैं तो उनको अस्थमा होने की संभावना कम रहती है.

यह रिसर्च फिनलैंड की नेशनल इंस्टीट्यू ऑफ हेल्थ एंडे वेलफेयर द्वारा किया गया है. इसके साथ ही इस रिसर्च में बताया गया है कि जिनके जितने भाई-बहन होते हैं, उन्हें उतना कम ही कम अस्थमा होने की संभावना होती है. 

इसका कारण भी बैक्टीरिया का लचीलापन होना है. इस मामले को लेकर प्रोफेसर जुहा पेकानकेन ने कहा, " यह बेहद रोचक है कि घर के भीतर मौजूद माइक्रोबैक्टीरिया भी अस्थमा होने को रोक सकते हैं."

डाइट में रोजाना शामिल करें पपीता, फायदे जानकर हैरान हो जाएंगे आप

First published: 18 June 2019, 14:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी