Home » हेल्थ केयर टिप्स » What is Ashtma and asthma attack treatment at home
 

बदलते मौसम में जानलेवा हो सकती है ये बीमारी, इन तरीकों से कर सकते हैं कंट्रोल

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 August 2019, 13:10 IST

एलर्जी और अस्थमा एक ऐसी बीमारी है, जो एक-दूसरे से काफी हद तक जुड़े होते हैं. अगर एलर्जी गंभीर रूप ले लेती है, तो ये अस्थमा के रूप में बदल जाती है. मौसम के बदलाव के कारण ये बीमारी और अधिक खतरनाक हो जाती है. मौसम में धूल कण और एलर्जी बढ़ने के कारण ये बीमारी और अधिक खतरनाक होने के चांसेज होते हैं.

इसके साथ ही प्रदूषण भी अस्थमा का बहुत बड़ा कारण होता है. इसके अलावा लाइफस्टाइल भी अस्थमा का कारण बन सकती है. हमारे घर के  पर्दे, कारपेट और गलीचे में मौजूद धूल भी अस्थमा का कारण बनती है.



क्या है अस्थमा?

स्वास नली में सूजन आना और बलगम और कप की वजह से नलियों की पेशियां सख्त हो जाती हैं. इस वजह से सांस लेने में काफी परेशानी होने लगती है. इसी परेशानी को अस्थमा कहते हैं. अस्थमा किसी भी उम्र में हो सकता है.

अस्थमा का लक्षण

  • कफ वाली खांसी बार-बार होना
  • छाती में जकड़न महसूस होना, साथ ही सांस लेने में परेशानी होना
  • चलते हुए और बात करते समय दम फूलना
  • ज्यादा खांसी होना और कफ छाती में बैठ जाना

    अस्थमा के घरेलू इलाज
  • आधा लीटर पानी में एक चम्मच मेथी डालकर इसका काढ़ा बना लें. इसके बाद इसमें एक चम्मच अदरक का रस और शहद मिला लें. इसे रोजाना सुबह-शाम पीने से अस्थमा में राहत मिलती है.
  • एक कप दूध में लहसुन की करीब पांच से छह कलियों को डालकर उबाल लें. इससे एलर्जी और अस्थमा ठीक होने में काफी सहायक होगी.
  • लहसुन की कलियों वाली चाय पीने से अस्थमा को काफी कंट्रोल किया जा सकता है. 

आपके किचन में रखी ये छोटी सी चीज कई गंभीर बीमारियों को चुटकियों में करता है दूर

First published: 29 August 2019, 13:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी