Home » हेल्थ केयर टिप्स » Yoga in relieving anxiety restlessness and headache in women
 

पीरिएड्स में चिड़चिड़ापन, बेचैनी दूर भगाते हैं ये खास योगासन

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 August 2017, 14:05 IST

आमतौर पर लड़कियों में पीरियड्स शुरू होने से कुछ हफ्ते पहले वजन बढने के साथ स्वभाव में चिड़चिड़ापन, बेचैनी, थकान, भूख से ज्यादा खाना, सिर व पीठ में दर्द, सूजन आदि की समस्या होती है. इसकी मुख्य वजह प्रमुख हार्मोन एस्ट्रोजन व प्रोगेस्टेरॉन में असंतुलन होना है. इन लक्षणों को कम करने में कुछ खास आसन व प्राणायाम मददगार साबित हो सकते हैं. आइए जानते हैं इनके बारे में:

पद्मासन - जमीन पर बैठकर अपना दायां पांव मोड़ें और दाएं पैर को बाईं जांघ के ऊपर तथा कूल्हों के पास रखें. ध्यान रहे कि दाईं एड़ी से पेट के निचले बाएं हिस्से पर दबाव पड़ना चाहिए. अब बायां पांव मोड़ें और बाएं पैर को दाईं जांघ के ऊपर रखें.

दोनों हाथों को ज्ञानमुद्रा में घुटनों के ऊपर रखें. पद्मासन के दौरान रीढ़ की हड्डी बिलकुल सीधी रहनी चाहिए. अब धीरे-धीरे सांस लें और छोड़ें. आप 1 मिनट से लेकर 15 मिनट तक यह आसन कर सकते हैं. पद्मासन करने से आपके शरीर को आराम महसूस होगा.

वज्रासन - पैरों को जमीन पर फैलाकर बैठ जाएं और हाथों को शरीर के बगल में रखें. दाहिने पैर को घुटने से मोड़ें और दाहिने कूल्हे के नीचे रखें. इसी तरह बाएं पैर को बाएं बटक के नीचे लाएं. एड़ी को ऐसे रखें कि पैर की बड़ी उंगलियां एक दूसरे पर न चढ़ें. दोनों हाथों को घुटनों पर रखें. ध्‍यान रहे कि रीढ़ की हड्डी बिलकुल सीधी हो. अब आंखें बंद कर लें. इस अवस्‍था में पांच से 10 मिनट तक बैठें. वज्रासन से कमर दर्द में आराम मिलेगा.

जनुशीर्षासन - जमीन पर बैठकर दोनों पैरों को सीधा कर लें. अब एक पैर को मोड़ लें, जैसे आलती-पालथी मारने की मुद्रा में किया जाता है. अब दोनों हाथों से एड़ी को पकड़ें और सिर को झुकाकर घुटने को छूने का प्रयास करें. बारी-बारी से दोनों पैरों को मोड़कर यह क्रिया दोहराएं.

पश्चिमोत्तानासन - सबसे पहले जमीन पर बैठ जाएं. अब दोनों पैरों को सामने फैलाएं. पीठ की मांसपेशियों को ढीला छोड़ दें. सांस लेते हुए अपने दोनों हाथों को ऊपर लेकर जाएं. फिर सांस छोड़ते हुए आगे की ओर झुकें और नाक को घुटने से सटाने की कोशिश करें. धीरे धीरे सांस लें और छोड़ें. फिर पुरानी अवस्‍था में लौट आएं और इस प्रक्रिया को फिर से दोहराएं. 3 से 5 बार यह चक्र दोहराएं.

First published: 25 August 2017, 14:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी