Home » इंडिया » 12 bjp mp out of parliamentary committees
 

बीजेपी ने 12 सांसदों को संसदीय समितियों से दिखाया बाहर का रास्ता

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 March 2016, 17:52 IST

बीजेपी ने संसदीय समितियों की बैठक में अनुपस्थित रहने वाले पार्टी के बारह सांसदों को बाहर कर दिया है. पार्टी ने आस्चर्यजनक रूप से अपने ही सांसदों के खिलाफ कड़ा रुख अख्तियार करते हुए उन्हें संसदीय समितियों से हटा दिया है.

बीजेपी ने जिन 12 सांसदों को जिन समितियों से बाहर किया हैं उनमें लोक लेखा समिति (पीएसी), एस्टीमेट समिति और कमेटी ऑन पब्लिक अंडरटेकिंग शामिल हैं.

समितियों से जिन बारह सांसदों को हटाया गया है, उनके नाम हैं- विनोद खन्ना, दर्शना विक्रम जडोह, संजय जायसवाल, कीर्ति आज़ाद, ओम बिड़ला, गणेश सिंह, एसएस अहलूवालिया, दुष्यंत सिंह, रमेश पोखरियाल निशंक, वरुण गांधी, नंद कुमार सिंह चौहान और पंकज चौधरी.

खबरों के मुताबिक विनोद खन्ना, दर्शना विक्रम जडोह, संजय जायसवाल, कीर्ति आज़ाद, ओम बिड़ला और गणेश सिंह को एस्टीमेट कमेटी से, वरुण गांधी, नंद कुमार सिंह चौहान और पंकज चौधरी को कमेटी ऑन पब्लिक अंडरटेकिंग कमेटी से और एसएस अहलूवालिया, दुष्यंत सिंह और रमेश पोखरियाल निशंक को लोक लेखा समिति से हटाया गया है.

इस मामले में संसदीय कार्य मंत्री वेंकैया नायडू इन बीजेपी सांसदों को कई बार इस मामले में हिदायत दे चुके थे. लेकिन सांसदों ने उनके कहे को नजरअंदाज किया. मंगलवार को नायडू ने बीजेपी संसदीय दल की बैठक में सांसदों को संसदीय समितियों को गंभीरता से लेने की सलाह भी दी थी.

वहीं दूसरी तरफ हटाये गये सांसदों का कहना है कि वे बिहार और राजस्थान के चुनाव में व्यस्त रहने के कारण मॉनसून और शीतसत्र के बीच गैरहाजिरी रहे और पार्टी का ही काम करते रहे.

बीजेपी सांसद एसएस अहलूवालिया ने इस मामले में प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि वह पार्टी की ओर से एक दूसरी संसदीय समिति के सदस्य थे. इसकी वजह से वो एक साथ दो समितियों की बैठक में हिस्सा नहीं ले पाए.

पार्टी के द्वारा हटाए गए एक अन्य सांसद ने कहा कि वह चुनावों में काम करने की वजह से कई बैठकों में शामिल नहीं हो सके थे. मगर इसके बावजूद मुझे हटा दिया गया.

First published: 15 March 2016, 17:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी