Home » इंडिया » 144 minors detained after removal of article 144 from Jammu and Kashmir
 

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के बाद 144 नाबालिग हिरासत में लिए गए

कैच ब्यूरो | Updated on: 2 October 2019, 9:25 IST

जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट की जुवेनाइल जस्टिस कमेटी ने मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट को बताया कि 9 साल से 17 साल के बीच की उम्र के 144 किशोर और कानून के विरोध में गिरफ्तार किए गए हैं. इनमें से 142 पहले ही रिहा हो चुके हैं और दो अभी भी जुवेनाइल होम्स में थे. इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने के बाद पुलिस और अन्य राज्य एजेंसियों द्वारा यह जानकारी प्रदान की गई है.

चाइल्ड राइट्स एक्टिविस्ट एनाक्षी गांगुली और संता सिन्हा की याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू-कश्मीर हाईकोर्ट की जेजे कमेटी से कहा कि वह उन आरोपों पर गौर करे, जिनमें बच्चों को अवैध रूप से हिरासत में रखा गया था, और एक रिपोर्ट सौंपी गई थी. इसके बाद न्यायमूर्ति अली मोहम्मद माग्रे की अध्यक्षता वाली समिति ने राज्य एजेंसियों के साथ-साथ अधीनस्थ अदालतों से रिपोर्ट मांगी है.

समिति को राज्य DGP की रिपोर्ट ने किसी भी बच्चे के अवैध निरोध के आरोपों से इनकार किया. इसमें कहा गया है कि किसी भी बच्चे को पुलिस अधिकारियों द्वारा अवैध हिरासत में नहीं रखा गया है. अपनी रिपोर्ट में DGP ने कहा कि राज्य ने अधिनियम के कार्यान्वयन के लिए ADGP के रैंक के एक अधिकारी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया है. रिपोर्ट के अनुसार पिछले हफ्ते जम्मू कश्मीर प्रशासन ने अपना नजरबंदी कानून हटा दिया और पब्लिक सेफ्टी एक्ट के तहत गिरफ्तार चार नाबालिकों को गिरफ्तार किया है.

जम्मू-कश्मीर के गांदरबल में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच जबरदस्त मुठभेड़, एक आतंकी ढेर

 

First published: 2 October 2019, 9:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी