Home » इंडिया » 2 jailed in mp for morphed mohan bhagwat image
 

सोशल मीडिया पर पहले भी तस्वीरें बनती रही हैं, इस गिरफ्तारी का क्या अर्थ है

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 March 2016, 18:24 IST

मध्य प्रदेश के दो युवकों को राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत की तस्वीर से छेड़छाड़ करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है.

पुलिस ने कहा है कि आरएसएस ने गणवेष (ड्रेस) बदलते हुए हाफ पैंट की जगह भूरे रंग की फुल पैंट का चयन किया था. इसके बाद यूनुस बंथिया (22 साल) और वसीम शेख (21) ने फोटोशॉप के जरिए उसका मजाक उड़ाया और भागवत की फोटो के साथ छेड़छाड़ किया.

Mohanbhagwat.jpg

पुलिस के अनुसार आरोपियों के खिलाफ इन्फोर्मेशन टेक्नालॉजी एक्ट के सेक्‍शन 67 की धारा 505 (2) के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. इसके तहत किसी समुदाय की भावनाओं को आहत करने का आरोप लगता है. अगर आरोप साबित हुआ तो दोनों युवकों को तीन साल जेल की सजा हो सकती है. फिलहाल दोनों युवक 30 मार्च तक न्यायिक हिरासत में है.

संघ कार्यकर्ता रजनीश निंबाल्‍कर ने हिंदुओं की भावनाएं आहत करने का आरोप लगाकर इन दोनों युवकों के खिलाफ खरगौन जिले में शिकायत दर्ज कराई गई थी.

इस गिरफ्तारी का विरोध सोशल मीडिया पर कई लोग कर रहे हैं. सबसे बड़ा सवाल पुलिस पर है क्योंकि हर दिन सोशल मीडिया में सैकड़ों नेताओं के फोटो से छेड़छाड़ करके उनका मजाक उड़ाया जाता है.

यूपीए सरकार के समय भी सोशल मीडिया में तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, अरविंद केजरीवाल, दिग्विजय सिंह, कपिल सिब्बल और विभिन्न नेताओं की भद्दी तस्वीरें प्रसारित-प्रचारित होती रहती थी. कुछ तो बेहद अपमानजनक होती हैं, पर कभी किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई. फलस्वरूप ये फोटोशॉप की हुई तस्वीरें खुद ब खुद दम तोड़ देती है.

सोशल मीडिया में तस्वीरें प्रसारित-प्रचारित होती रहती हैं, पर कभी किसी की गिरफ्तारी नहीं होती लिहाजा ये फोटोशॉप की हुई तस्वीरें खुद ब खुद दम तोड़ देती है

कुछ लोगों ने इस बात पर भी आपत्ति जाहिर की है कि आखिर मोहन भागवत की तस्वीर से छेड़छाड़ हिंदुओं की भावनाओं को आहत कैसे कर सकती है? मोहन भागवत संपूर्ण हिंदू धर्म के प्रतीक कैसे हैं?

पुलिस की एफआईआर में दोनों युवकों पर हिंदुओं की भावनाएं भड़काने का आरोप है. अरविंद केजरीवाल, दिग्विजय सिंह, लालू प्रसाद यादव, कपिल सिब्बल ये सभी नेता भी हिंदू है. अगर आप इंटरनेट पर सर्च करें तो इनकी हजारों गंदी तस्वीरें आपको आसानी से मिल जाएगी. लेकिन ऐसा कभी नहीं हुआ कि किसी व्यक्ति की तस्वीर से छेड़छाड़ करने के आरोप में किसी की गिरफ्तारी हुई.

आज जिन लोगोंं की भावनाएं आहत हुई हैं कभी वे ही लोग दूसरी पार्टियों के नेताओं की तमाम अश्लील तस्वीरें बनाते और सोशल मीडिया पर लगाते रहे हैं. क्या कभी इससे पहले यह बहस हुई कि इससे किसी की भावना आहत होती है? नीचे दी गई तस्वीरोंं को देखकर साफ अंदाजा लगता है कि ये तस्वीरें स्वस्थ ह्यूमर के कारण नहीं बल्कि कड़वाहट और घृणा के कारण बनाई गईं थी.

modi.jpg
modi2.jpg
digvijay.gif
rahulgandhi.jpg
digvijay-sonia-manmohan-kapil.jpg
rahulgandhi1.jpg
manmohan-singh-and-sonia-gandhi-funny2.jpg
manmohan-singh-and-sonia-gandhi-funny2.jpg
kejriwal.jpg

sonia-manmohan

First published: 18 March 2016, 18:24 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी