Home » इंडिया » 2019 parliamentary elections expenditure election commission 60 thousand crore
 

लोकसभा चुनाव में पानी की तरह बहाया गया पैसा, इतने हजार करोड़ रुपए हुए खर्च

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 June 2019, 10:11 IST

लोकसभा चुनाव में बीजेपी को प्रचंड जीत हासिल हुई है. मोदी के मंत्रिमंडल का चुनाव भी हो चुका है, लेकिन अब इस चुनाव के जो आंकड़े सामने आ रहे हैं. वे बेहद ही चौंकाने वाले हैं. आंकड़ों के अनुसार इस बार का लोकसभा चुनाव आजाद भारत का सबसे महंगा चुनाव बताया जा रहा है.

आंकड़ों के मुताबिक, लोसभा चुनाव 2019 चुनाव के सात चरणों में करीब 60 हजार करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं. ये चुनाव 75 दिन तक चले. ये आंकड़े निजी थिंक टैंक सेंटर फॉर मीडिया स्टडीज ने किया है.

सेंटर फॉर मीडिया स्टटडी (सीएमएस) की स्टडी के अनुसार, लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान एक वोट पर औसतन 700 रुपए खर्च हुए हैं. यदि हम लोकसभा क्षेत्र के लिहाज से बात करें तो, इस बार प्रत्येक लोकसभा क्षेत्र में 100 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं.

सीएमएस की रिसर्च में पता चला है कि पिछली लोकसभा चुनाव यानि 2014 के चुनाव में 30 हजार करोड़ रुपये खर्च हुए थे, जो बढ़कर इस बार दोगुना हो गया. इस तरह से 2019 का लोकसभा चुनाव भारत का अबतक का सबसे महंगा चुनाव हो गया है. इतना ही नहीं सीएमस का ये भी दावा है कि ये दुनिया का अबतक का सबसे महंगा चुनाव है. 

वायुसेना के लापता AN-32 विमान की बड़े स्तर पर हो रही है खोज, सेना ने संभाला मोर्चा

सीएमएस की इस रिपोर्ट को दिल्ली के इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में जारी किया गया. रिपोर्ट जारी करने के दौरान पूर्व चुनाव आयुक्त एस वाई कुरैशी भी वहां मौजूद रहे.

सीएमएस की रिपोट के अनुसार, लोकसभा चुनाव में मतदाताओं पर 12 से 15 हजार करोड़ रुपये, विज्ञापन पर 20 से 25 हजार करोड़ रुपये, लॉजिस्टिक पर 5 हजार से 6 हजार करोड़ रुपये खर्च किए गए हैं. इसके अलावा 3 से 6 हजार करोड़ रुपये अन्य मदों पर भी खर्च हुए. अगर हम इन रकम को जोड़े तो ये आंकड़ा 55 से 60 हजार पहुंचता है.

लोगों को राहत देने की तैयारी कर रही है मोदी सरकार, 16 करोड़ परिवारों को होगा लाभ

बता दें कि चुनाव आयोग से चुनाव में खर्च करने की वैध सीमा मात्र 10 से 12 हजार करोड़ रुपये थी, लेकिन ये आंकड़ा 50 से 60 हजार करोड़ रुपए पहुंच गयाय

First published: 4 June 2019, 10:11 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी