Home » इंडिया » 30 Dead In Odisha due to sunstroke as heat wave sweeps State
 

ओडिशा में जानलेवा गर्मी, 30 लोगों की मौत

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST

ओडिशा में भयंकर गर्मी से लोग बेहाल हैं. हालात इस कदर बिगड़ चुके हैं कि राज्य में अब तक गर्मी और लू की चपेट में आकर 30 लोगों की मौत हो चुकी है. राज्य के ज्यादातर इलाकों में पारा 40 डिग्री सेल्सियस के पार जा चुका है.

मौसम विभाग के मुताबिक राज्य में  17 जगहों पर तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से ऊपर है. जबकि तलचर, सुंदरगढ़ और चांदबाली में तापमान 43 डिग्री सेल्सियस से ऊपर चला गया है.

खुर्दा में गर्मी की चपेट में आकर सबसे ज्यादा लोगों की मौत हुई है. वहीं कटक जिले में चार और अंगुल में तीन लोगों ने दम तोड़ दिया. जबकि बालासोर, गंजाम, क्योंझर और नयागढ़ में दो-दो लोगों को जान गंवानी पड़ी है.

पढ़ें:लू से तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में 111 लोगों की मौत

30 साल बाद सबसे गर्म दिन


ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में सोमवार को तापमान 45.8 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया था. 1985 के बाद अप्रैल में ये सबसे गर्म दिन था. इससे पहले 23 अप्रैल 1985 को भुवनेश्वर का तापमान 45.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था.

मौसम विभाग के मुताबिक अभी गर्मी से राहत की कोई उम्मीद नहीं है. अगले एक हफ्ते तक लू के थपेड़े जारी रहने की संभावना जताई गई है.

पढ़ें:क्या कार्बन बजट से निकलेगा ग्लोबल वार्मिंग का समाधान?

आंध्र-तेलंगाना में भी गर्मी का कहर

गर्मी के भयावह हालात को देखते हुए राज्य सरकार ने सभी स्कूलों 20 अप्रैल तक बंद करने का एलान किया है. विशेष राहत आयुक्त का कहना है कि परीक्षाओं के लिए स्कूलों को सुबह या शाम का वक्त तय करने के निर्देश दिए जाएंगे.

20 अप्रैल के बाद गर्मी और लू की स्थिति की समीक्षा की जाएगी. भुवनेश्वर मौसम केंद्र के निदेशक का कहना है कि अगर समुद्री हवा का धरती की ओर आना जल्दी शुरू नहीं हुआ, तो तापमान और बढ़ना तय है.

अप्रैल में गर्मी और लू से ओडिशा समेत देश के कई इलाकों में हालात भयावह हैं. आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में जानलेवा गर्मी से अब तक सवा सौ से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

पढ़ें:अगले 15 सालों तक पेरिस जलवायु समझौते की गूंज सुनाई देगी

First published: 14 April 2016, 3:28 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी