Home » इंडिया » 5-5 year imprisonment for CJI and other judges of Supreme court by Justice Karnan
 

जस्टिस कर्णन ने CJI समेत 7 जजों को सुनाई 5-5 साल की सज़ा

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 May 2017, 10:56 IST

कलकत्ता हाई कोर्ट के जस्टिस सी एस कर्णन ने सोमवार को भारत के मुख्य न्यायाधीश जेएस खेहर समेत सुप्रीम कोर्ट के सात अन्य जजों को 5-5 साल के कठोर कारावास की सजा सुना दी. इन सभी जजों को अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निरोधक) अधिनियम 1989 व संशोधित एक्ट 2015 के तहत दोषी पाए जाने का फैसला सुनाते हुए सजा दी गई.

जस्टिस कर्णन ने अपने खिलाफ मानहानि के मामले की सुनवाई कर रही बेंच में शामिल सात जजों के नाम का ज़िक्र किया. इस बेंच में शामिल जज हैं जस्टिस दीपक मिश्र, जस्टिस जे चेल्मेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन बी. लोकुर, जस्टिस पिनाकी चंद्र घोष और जस्टिस कुरियन जोसफ. बेंच की अगुवाई कर रहे हैं जस्टिस जेएस खेहर.

मालूम हो कि जस्टिस भानुमति की बेंच ने जस्टिस कर्णन से कानूनी और प्रशासनिक अधिकार छीनने का फैसला दिया था. अब इसके बाद जस्टिस कर्णन ने अपना फैसला सुनाते हुए सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस समेत सात जजों को सज़ा सुना दी है. आज जस्टिस कर्णन के मानहानि वाले मामले में सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हो रही है.

First published: 9 May 2017, 10:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी