Home » इंडिया » 5 ministers have been dropped from Council of Ministers including Nihalchand, Sanwar Lal Jat, Manuskhbhai D Vasva, MK Kundariya
 

मोदी मंत्रिपरिषद विस्तार के बाद 5 मंत्रियों की छुट्टी

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 July 2016, 16:21 IST
(पत्रिका)

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार से पांच मंत्रियों की छुट्टी हो गई है. मंगलवार को मंत्रिपरिषद के दूसरे विस्तार में 20 मंत्रियों को शपथ दिलाई गई. विस्तार से पहले ही माना जा रहा था कि कई मंत्रियों को हटाया जाएगा.

जिन पांच मंत्रियों का मंत्रिपरिषद से पत्ता कटा है, उनके नाम हैं- रामशंकर कठेरिया, निहालचंद मेघवाल, सांवरलाल जाट, मनसुखभाई डी वासवा और मोहन भाई कुंडारिया.

इस बीच राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने मोदी मंत्रिपरिषद के पांच मंत्रियों का इस्तीफा मंजूर कर लिया है.

नजमा-कलराज की कुर्सी कायम

पहले ही माना जा रहा था कि मंत्रिपरिषद में नए चेहरों को शामिल करने के बाद कुछ मंत्रियों पर गाज गिरेगी. हालांकि नजमा हेपतुल्ला और कलराज मिश्र अपना मंत्री पद बरकरार रखने में कामयाब रहे.

दोनों मंत्रियों को 75 पार फॉर्मूले की वजह से मोदी मंत्रिपरिषद से हटाए जाने की चर्चा थी. इसके अलावा बिहार के नवादा से सांसद और विवादित बयान देकर सुर्खियों में रहे लघु एवं सूक्ष्म उद्योग राज्यमंत्री गिरिराज सिंह का मंत्री पद बच गया.

कठेरिया का मंत्री पद छिना

माना जा रहा था कि गिरिराज सिंह की भी मंत्रिपरिषद से छुट्टी हो सकती है. हालांकि रामशंकर कठेरिया को मंत्री पद से हटाकर संगठन में भेजे जाने की पहले से चर्चा थी.

रामशंकर कठेरिया के पास मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री का पद था. फर्जी डिग्री विवाद समेत कई विवादित बयान देकर उन्होंने सरकार को मुश्किल में डाला था.

आगरा से सांसद रामशंकर कठेरिया डिग्री विवाद और बयानों को लेकर सुर्खियों में थे (पीटीआई)

निहालचंद मेघवाल की छुट्टी

कठेरिया के अलावा राजस्थान से आने वाले दो मंत्रियों की मोदी मंत्रिपरिषद से छुट्टी हुई है. इनमें जल संसाधन राज्यमंत्री और अजमेर से सांसद सांवरलाल जाट का नाम शामिल है. जाट को नवंबर 2014 में हुए पहले मंत्रिपरिषद विस्तार में राज्यवर्धन सिंह राठौड़ के साथ जगह मिली थी.

वहीं केंद्रीय रसायन-उर्वरक राज्यमंत्री और श्रीगंगानगर से सांसद निहालचंद मेघवाल का भी मंत्री पद छिन गया है. रेप के एक मामले में वे पहले से कठघरे में थे. 26 मई 2014 को मोदी सरकार के सत्तासीन होने पर उन्हें आखिरी क्षणों में मंत्रिपरिषद में शामिल किया गया था. विपक्ष ने कई बार उनके इस्तीफे की मांग उठाई थी.

सांवरलाल जाट ने लोकसभा चुनाव में राजस्थान कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट को हराया था (फाइल फोटो)

हालांकि राजस्थान से तीन नए मंत्री शामिल करके इसकी भरपाई कर दी गई है. अर्जुनराम मेघवाल, पीपी चौधरी और सीआर चौधरी को आज हुए विस्तार में राज्यमंत्री बनाया गया है.

मोहनभाई कल्याणभाई कुंडारिया गुजरात के राजकोट से सांसद हैं (फाइल फोटो)

गुजरात से आने वाले दो मंत्री भी बाहर

इसके अलावा गुजरात से आने वाले केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री मोहनभाई कल्याणभाई कुंडारिया को भी मंत्री पद से हटा दिया गया है. वे राजकोट लोकसभा सीट से सांसद हैं. नौ नवंबर 2014 को मोदी मंत्रिपरिषद का पहला विस्तार हुआ था.

साथ ही आदिवासी कल्याण राज्यमंत्री मनसुखभाई डी वासवा की मंत्रिपरिषद से छुट्टी हुई है. मनसुखभाई गुजरात के भरूच से लोकसभा सांसद हैं.

मनसुखभाई डी वासवा केंद्रीय आदिवासी कल्याण राज्यमंत्री के पद पर थे (फाइल फोटो)
First published: 5 July 2016, 16:21 IST
 
अगली कहानी