Home » इंडिया » 50 IIT students committed suicide in last five years, Guwahati leads
 

बीते पांच साल में 50 IIT छात्रों ने की आत्महत्या, गुवाहाटी सबसे आगे : HRD मंत्रालय

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 December 2019, 13:56 IST

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने संसद में देश के विभिन्न आईआईटी संस्थानों में की गई आत्महत्याओं का डेटा साझा किया है. HRD मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने क्रांतिकारी सोशलिस्ट पार्टी के सांसद एनके प्रेमाचंद्रन द्वारा पूछे गए सवाल के जवाब में जानकारी दी कि देश के 23 आईआईटी में बीते पांच साल में 50 से अधिक छात्रों ने आत्महत्या की.

मंत्री ने जानकारी दी कि इनमें से IIT गुवाहाटी में सबसे ज्यादा 14 छात्रों ने आत्महत्या की है. जबकि IIT मद्रास में 7, IIT बॉम्बे- 7, आईआईटी दिल्ली -4, आईआईटी खड़गपुर-5 और आईआईटी हैदराबाद के 5 छात्रों ने आत्महत्या की है. आईआईटी-कानपुर में एक और आईआईटी-रुड़की दो छात्रों ने आत्महत्या की हैं.

हालही में आईआईटी गुवाहाटी में एक जापानी एक्सचेंज के छात्र को हॉस्टल के कमरे में मृत पाया गया, जबकि आईआईटी मद्रास में प्रथम वर्ष की छात्रा फातिमा लतीफ़ ने 9 नवंबर आत्महत्या की थी. हालांकि आईआईटी छात्रों ने अच्छा प्रदर्शन भी किया है.

अयोध्या मामले पर मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन को केस से हटाया गया

बीते दिनों तीन आईआईटी रुड़की के छात्रों को यूएस फर्म से 1.54 करोड़ रुपये का जॉब ऑफर मिलता है. इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेन्ट या आईआईएम को भी भी इस तरह की त्रासदियों का सामना करना पड़ा है. पिछले 5 वर्षों में 20 आईआईएम के 10 छात्रों ने आत्महत्या की है.

Bihar SSC: इन पदों पर निकली बंपर वैकेंसी, जानिए पद नाम, शैक्षिक योग्यता और आवेदन का तरीका

First published: 3 December 2019, 13:50 IST
 
अगली कहानी