Home » इंडिया » 60 Pakistani Hindus enter India, there is great hope from CAA
 

60 पाकिस्तानी उत्पीड़ित हिन्दुओं ने किया भारत में प्रवेश, CAA से है बड़ी उम्मीद

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 February 2020, 10:11 IST

भारत में नागरिकता कानून के विरोध और समर्थन में जहां देशभर में बवाल मचा हुआ है, वहीं सोमवार को लगभग 60 पाकिस्तानी हिंदुओं ने अटारी-वाघा सीमा भारत में प्रवेश कर लिया. एक रिपोर्ट के अनुसार इनमें से कुछ के पास पर्यटक बीजा थे. ऐसा माना जा रहा है कि ये लोग पड़ोसी देश में असुरक्षित महसूस कर रह थे और उन्हें उम्मीद है कि भारत उन्हें नागरिकता प्रदान करेगा.

रिपोर्ट के अनुसार शिरोमणि अकाली दल के नेता और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा चार दलित हिंदू सिख परिवारों से मिले, उन्होंने दावा किया कि वे पाकिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न का सामना कर रहे थे. उन्होंने कहा कि वह केंद्र से उन्हें नागरिकता (संशोधन) अधिनियम के तहत भारतीय नागरिकता देने का आग्रह करेंगे.

 

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार सिरसा ने कहा "ये परिवार भारत में शरण लेने के लिए आए हैं क्योंकि वे पाकिस्तान में धार्मिक रूप से उत्पीड़ित हैं. वे पाकिस्तान में कई कठिनाइयों का सामना कर रहे थे''. सिरसा ने कहा कि इनमे से एक परिवार की बेटियों का अपहरण किया गया और उन्हें धर्म परिवर्तन के लिए मजबूर किया गया.

सिरसा ने फेसबुक पोस्ट में लिखा “अभी मेरे चार परिवार हैं जो भारत में रहना चाहते हैं. उनमें से एक डॉक्टरों का परिवार है. उन्हें सीएए से बहुत उम्मीदें हैं. ऐसे कई परिवार हैं ... मैं गृह मंत्री अमित शाह से मिलूंगा ... और उन्हें नागरिकता देने का अनुरोध करूंगा.''

Coronavirus: चीन ने अमेरिका पर लगाया बड़ा आरोप, कहा- दुनियाभर में वायरस का डर फैला रहा है

 

First published: 4 February 2020, 10:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी