Home » इंडिया » 62% users are facing call drop issue, a shocking survey report of telecom department
 

कॉल ड्रॉप की समस्या से जूझ रहे आधे से ज्यादा यूजर्स

कैच ब्यूरो | Updated on: 8 April 2017, 18:27 IST

यूं तो टेलीकॉम ऑपरेटर्स और केंद्र सरकार को लगातार यह दावा करते सुना जा सकता है कि कि कॉल ड्रॉप के स्तर में गिरावट आई है. लेकिन टेलीकॉम डिपार्टमेंट द्वारा कराए गए सर्वेक्षण के मुताबिक ज्यादातर उपभोक्ता अभी भी कॉल ड्रॉप परेशानी से जूझ रहे हैं.

टेलीकॉम डिपार्टमेंट द्वारा जारी बयान के मुताबिक, ‘‘सर्वेक्षण में करीब 2 लाख 20 हजार 935 उपभोक्ता शामिल हुए. इनमें से 1 लाख 38 हजार 072 ने बताया कि उन्हें कॉल ड्रॉप की समस्या का सामना करना पड़ रहा है. ऑटोमेटेड कॉल सर्विस के जरिये यह सर्वे 23 दिसंबर 2016 से 28 फरवरी 2017 के दौरान किया गया. इसमें सीधे उपभोक्ताओं से राय ली गई."

 

टेलीकॉम डिपार्टमेंट की ऑटोमेटेड कॉल सर्विस या इंटीग्रेटेड वॉयस रेस्पॉन्स सिस्टम (IVRS) ने सभी टेलीकॉम ऑपरेटर्स के यूजर्स को 16.61 लाख कॉल कीं. डिपार्टमेंट के बयान में कहा गया कि उपभोक्ताओं द्वारा दी राय से पता चलता है कि ‘इनडोर’ में कॉल ड्रॉप की समस्या अधिक होती है.

बता दें कि हाल ही में मोबाइल सेवाओं की गुणवत्ता की जांच के लिए भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) ने ऑपरेटरों के सहयोग से परीक्षण अभियान शुरू कर दिया है. इसके जरिये नियामक को तत्काल आधार पर आंकड़े मिल सकेंगे और वह विभिन्न शहरों में कॉल ड्रॉप और वॉयस गुणवत्ता की जांच कर सकेगा.

First published: 8 April 2017, 18:27 IST
 
अगली कहानी