Home » इंडिया » 9 girls missing from dilshan garden ashram, 2 officers suspended
 

सरकारी निगरानी में भी सुरक्षित नहीं लड़कियां, दिल्ली स्थित आश्रम से 9 बच्चियां गायब

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 December 2018, 10:31 IST
(प्रतीकात्मक तस्वीर)

दिल्ली के दिलशाद गार्डन स्थित संस्कार फॉर गर्ल्स (SAG) से 9 लड़कियों के गायब होने की खबर से सनसनी मच गई है. दिल्ली महिला आयोग ने इस मामले में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को भी जानकारी दी. दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति जयहिंद इस मामले को गंभीरता से लेते हुए आश्रम पहुंच गई. सरकारी आश्रम से 9 बच्चियों के गायब होने की खबर मिलने के बाद उपमुख्यमंत्री ने नॉर्थ-ईस्ट डिस्ट्रिक्ट के महिला और बाल विकास विभाग के अफसर और आश्रम के सुपरिंटेंडेंट को तुरंत ही सस्पेंड कर दिया. इस मामले में जीटीबी एनक्लेव पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने के बाद जांच शुरू कर दी है.

लड़कियों के गायब होने की इस घटना पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति जय हिंद ने क्राइम ब्रांच की जांच की मांग की है. गौरतलब यही कि ये घटना एक दिसंबर की रात की है. एक दिसंबर को ही दिलशाद गार्डन में बने संस्कार आश्रम से 9 लड़कियों के गायब होने की खबर आयी. हैरान करने वाली बात ये है कि इस बारे में आश्रम के अधिकारियों को भनक तक नहीं लगी. इस बारे में जानकारी दो दिसंबर की सुबह हुई. तब दो दिसंबर की सुबह इस घटना की जानकारी देते हुए जीटीबी एनक्लेव पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज की गई.

ये भी पढ़ें-  भारत के बच्चों की शिक्षा के लिए इस अमेरिकी ने दान की अपनी 30 लाख डॉलर की संपत्ति

वहीं दिल्ली महिला आयोग की मुखिया स्वाति जय हिंद का कहना है कि दिल्ली के एक सरकारी शेल्टर होम से 9 लड़कियों के गायब होने की घटना चौंकाने वाली है. वहीं इस बारे में उन्होंने कहा कि महिला आयोग के पास ऐसी जानकारी है कि इसमें से कई लड़कियां वे हैं जिन्हें महिला आयोग ने ही अलग-अलग मानव तस्करों के गिरोह से छुड़ाया था. इसके बाद उन्हें इस सरकारी शेल्टर होम में रखा गया था.

दिल्ली महिला आयोग ने अपनी जानकारी के अनुसार या कहा है कि इन नौ लड़कियों को बाल कल्याण समिति-VII के आदेश पर 4 मई 2018 को द्वारका के एक शेल्टर होम से संस्कार आश्रम फॉर गर्ल्स में लाया गया था. ये सभी लड़कियां मानव तस्करी और देह व्यापार की शिकार थीं, जिन्हें महिला आयोग ने छुड़ाया था.

First published: 4 December 2018, 10:31 IST
 
अगली कहानी