Home » इंडिया » 9 Rebel MLAs approach SC for urgent hearing against Uttarakhand HC's order dismissing their plea
 

उत्तराखंड: HC के फैसले के खिलाफ बागी विधायक पहुंचे सुप्रीम कोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 May 2016, 12:07 IST

उत्तराखंड हाईकोर्ट से झटका मिलने के बाद नौ बागी कांग्रेस विधायकों ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया है. अयोग्य ठहराए जाने के स्पीकर के फैसले को नैनीताल हाईकोर्ट ने सही करार दिया है.

उत्तराखंड में सुप्रीम कोर्ट ने 10 मई यानी मंगलवार को बहुमत परीक्षण का आदेश दिया है. जिसमें बागी विधायकों की भूमिका अहम मानी जा रही है.

SC Baghi

बागी विधायकों ने जल्द सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट से अपील की है. इस बीच चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर ने कहा है कि बागी विधायक मामले की सुनवाई के लिए उसी बेंच के पास जाएं, जिसने फ्लोर टेस्ट का आदेश दिया था.

बहुमत परीक्षण का अादेश जस्टिस दीपक मिश्रा और जस्टिस शिवकीर्ति सिंह की दो सदस्यों वाली सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने दिया था.

जिन बागी विधायकों ने याचिका दाखिल की है, उनके नाम हैं- विजय बहुगुणा, हरक सिंह रावत, अमृता रावत, प्रदीप बतरा, प्रणव सिंह चैंपियन, शैलारानी रावत, शैलेंद्र मोहन सिंघल, सुबोध उनियाल और उमेश शर्मा. 

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने भी 10 मई को होने वाले फलोर टेस्ट में बागी विधायकों को वोटिंग से दूर रहने का आदेश दिया था. राज्य में इस दिन दो घंटे (11 से 1 बजे तक) के लिए राष्ट्रपति शासन नहीं रहेगा.

शक्ति परीक्षण के दौरान होने वाली वोटिंग की वीडियोग्राफी भी की जाएगी. इसका नतीजा सीलबंद लिफाफे में सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किया जाएगा.

इस बीच स्पीकर गोविंद सिंह कुंजवाल ने भी सुप्रीम कोर्ट में ये आपत्ति दाखिल की है कि अगर हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती दी जाती है तो उनका भी पक्ष सुना जाए. 

sc baghi2

First published: 9 May 2016, 12:07 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी