Home » इंडिया » 93 Children die due to acute encephalitis syndrome in Muzaffarpur Bihar
 

बिहार में चमकी बुखार से 93 बच्चों की मौत, स्वास्थ्य मंत्री ने दिया हर संभव मदद का आश्वासन

कैच ब्यूरो | Updated on: 17 June 2019, 8:12 IST

बिहार में महामारी की तरह फैले चमकी बुखार ने अबतक 93 बच्चों की जान ले ली. बिहार में चमकी बुखार यानि एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम बीमाकी का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है और इससे होने वाली मौतों का सिलसिला भी नहीं थम रहा. रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने भी मुजफ्फरपुर का दौरा किया. इस दौरान वह श्रीकृष्ण सिंह मेडिकल कॉलेज अस्पताल पहुंचे. स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन कहा कि इस समस्या को जड़ से समाप्त करने के लिए केंद्र सरकार की ओर से राज्य को हर संभव मदद दी जाएगी.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, “मैं इस क्षेत्र के लोगों, विशेष रूप से प्रभावित परिवारों को विश्वास दिलाता हूं कि समस्या को जड़ से समाप्त करने के लिए केंद्र सरकार राज्य सरकार को सभी संभव आर्थिक और तकनीकी सहयोग देगी." उन्होंने चमकी बुखार से हो रही बच्चों की मौत और उनके इलाज के लिए कहा कि एसकेएमसीएच में बीमार बच्चों के लिए मौजूदा व्यवस्था पर्याप्त नहीं है. हर्षवर्धन ने कहा कि यहां कम से कम बच्चों का 100 बिस्तरों वाला अलग से गहन चिकित्सा कक्ष (ICU) बनना चाहिए.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा कि उन्होंने राज्य के स्वास्थ्य मंत्री को अगले साल तक युद्ध स्तर पर इसे तैयार कर लेने को कहा है. उन्होंने कहा कि बिहार में चार-पांच जगहों पर स्टेट ऑफ दी आर्ट वाईरोलोजी प्रयोगशाला को कुछ ही महीनों के पूरा कर लिया जाएगा. केंद्रीय मंत्री ने कहा, "इस रोग के इलाज के लिए शिशु रोग विशेषज्ञों के अलावा न्यूरोलोजिस्ट का होना आवश्यक है. इस अस्पताल में निर्माणाधीन सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक का काम अगले छह महीने के भीतर पूरा करने के लिए कहा गया है."

पाकिस्तान से आतंकी हमले के इनपुट मिलने के बाद जम्मू-कश्मीर में हाई अलर्ट पर सेना

First published: 17 June 2019, 8:16 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी