Home » इंडिया » A Dalit groom allegedly stopped from riding a horse cart in Kurukshetra, Haryana
 

हरियाणा: कुरुक्षेत्र में दलित दूल्हे को घोड़ी पर चढ़ने से रोका

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:50 IST
(एएनआई)

देश को आजाद हुए करीब 69 साल बीतने वाले हैं, लेकिन बहुत से लोगों की सोच अब भी बदली नहीं है. संविधान में हर नागरिक को बराबरी का हक है, लेकिन हरियाणा में दबंगों को एक दलित दूल्हे का घोड़ी पर चढ़ना मंजूर नहीं.

मामला हरियाणा के कुरुक्षेत्र जिले का है, आरोप है कि शादी से पहले घुड़चढ़ी की रस्म के दौरान एक दलित शख्स को जबरन रोक दिया गया. पीड़ित संदीप का कहना है, "मुझसे कहा गया कि मैं एक दलित हूं, इसलिए मुझे घोड़े या घोड़ा गाड़ी पर चढ़ने का हक नहीं है."

हरियाणा में मनोहर लाल खट्टर की अगुवाई में बीजेपी सरकार है. दलितों को उनके अधिकारों से महरूम करने का ये पहला मामला नहीं है, लेकिन कुरुक्षेत्र के इस मामले के सामने आने के बाद प्रशासन सवालों के घेरे में है.

पिछले साल अक्टूबर में सोनीपत जिले के गोहाना में 15 साल के गोविंद नाम के लड़के की संदिग्ध मौत का मामला सामने आया था. परिजनों का आरोप था कि गोविंद की मौत पुलिस हिरासत में हुई. उसे कबूतर चोरी के आरोप में हिरासत में लिया गया था.

इससे एक हफ्ते पहले बल्लभगढ़ में दो बच्चों को जिंदा जलाने के मामले को लेकर सरकार पर सवाल उठे थे. विपक्ष का आरोप है कि खट्टर की अगुवाई वाली बीजेपी सरकार के सत्तासीन होने के बाद राज्य में दलित उत्पीड़न के मामले बढ़े हैं.

First published: 23 May 2016, 3:33 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी