Home » इंडिया » Aadhaar leak: Gas company Indane’s website exposed details of millions of customers, claims report
 

गैस कंपनी इंडेन की वेबसाइट से लाखों ग्राहकों का आधार डेटा लीक : रिपोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 February 2019, 13:13 IST

सरकार के स्वामित्व वाली गैस कंपनी इंडेन की वेबसाइट पर लगभग 6.7 मिलियन ग्राहकों का आधार विवरण लीक हो गया है. टेक क्रंच के अनुसार इसके बाद किसी को भी बिना वैध उपयोगकर्ता नाम और पासवर्ड के पेज पर लॉग इन करने की अनुमति मिल गई. इंडेन के पूरे भारत में 90 मिलियन (9 करोड़) से अधिक ग्राहक हैं. यह दूसरी बार है जब इंडेन डेटा लीक विवाद में शामिल हुआ है. इससे पहले 2018 में में वेबसाइट से डेटा लीक होने का मामला सामने आया था.

मंगलवार को मीडियम ब्लॉग पर एक पोस्ट में, फ्रांसीसी साइबर सुरक्षा शोधकर्ता बैपटिस्ट रॉबर्ट, जो कि इलियट एल्डरसन नाम से जाता है, ने दावा किया है कि उसने 11,000 डीलरों के साथ-साथ उनके गोपनीय आधार नंबर का उपयोग किया. एल्डरसन ने दावा किया कि इस आईपी से 5.8 मिलियन इंडेन ग्राहक प्रभावित हुए जब तक कि उनका आईपी ब्लॉक नहीं हो गया. उन्होंने कहा कि अनुमानित कुल संख्या 6.7 मिलियन ग्राहकों को प्रभावित कर सकती है.

एल्डर्सन ने कहा कि उन्होंने सार्वजनिक रूप से इंडेन से प्रतिक्रिया नहीं मिलने के बाद लीक को सार्वजनिक रूप से साझा किया था. टेक क्रंच ने कहा कि इसने यूआईडीएआई के ऑनलाइन सत्यापन उपकरण का उपयोग करके साइट से आधार संख्याओं के नमूने को अलग से सत्यापित किया था.

इस महीने की शुरुआत में एक झारखंड सरकार की वेब प्रणाली ने लगभग 166,000 सरकारी कर्मचारियों की व्यक्तिगत जानकारी और आधार संख्या को लीक किया था. 2018 में, एल्डरसन ने तेलंगाना सरकार के लाभ संवितरण पोर्टल TSPost में लीक को भी उजागर किया था, जिसमें 56 लाख राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के लाभार्थियों के खाते का विवरण और आधार संख्या और सामाजिक सुरक्षा पेंशन के 40 लाख लाभार्थी थे.

जेट एयरवेज अपनी बहुमत हिस्सेदारी 1 रुपये में क्यों बेच रहा है ?

First published: 19 February 2019, 12:39 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी