Home » इंडिया » AAP targets BJP and LG over MM Khan murder case, Tanwar asked can anyone murder by letter
 

एमएम खान मर्डर: चिट्ठी के जरिए आप ने एलजी और बीजेपी को घेरा

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 June 2016, 16:08 IST
(ट्विटर)

नई दिल्ली नगरपालिका परिषद (एनडीएमसी) के अधि‍कारी एमएम खान मर्डर केस में आम आदमी पार्टी ने दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग और बीजेपी पर हमला बोला है.

गुरुवार को पार्टी ने एनडीएमसी को लिखी नजीब जंग की उस चिट्ठी का हवाला दिया, जिसमें अध‍िकारी पर कार्रवाई की मांग की गई है. आम आदमी पार्टी ने इस मामले में नजीब जंग, बीजेपी सांसद महेश गिरी और करन सिंह तंवर को कठघरे में खड़ा किया है.

प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान पार्टी के प्रवक्ता राघव चड्ढा ने अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस में छपी रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा, "साफ है कि माननीय एलजी को चिट्टी लिखी गई और एलजी ने वही चिट्ठी आगे बढ़ाते हुए एनडीएमसी को भेजी और कार्रवाई की मांग की.

चिट्ठी का नंबर 83212 है, जो बीजेपी के महेश गिरि ने लिखी है. यह चिट्ठी होटल मालिक रमेश कक्कड़ को फायदा पहुंचाने के लिए लिखी गई. महेश गिरी की तुरंत गिरफ्तारी होनी चाहिए. क्या गिरी के एमएम खान की हत्या की सुपारी देने वालों के साथ संबंध थे?"

17 को चिट्ठी, 16 को ही मर्डर!

गौतरलब है कि अंग्रेजी अखबार ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि 17 मई को दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग के दफ्तर से एनडीएमसी को चिट्ठी लिखकर होटल व्यापारी मामले में एमएम खान पर कार्रवाई की मांग की गई, जबकि खान की हत्या 16 मई को ही हो चुकी थी.

पढ़ें: दिल्ली: एनडीएमसी के वकील की हत्या का होटल कनेक्शन !

राघव चड्ढा का कहना है, "इस पूरे मामले से यही बात समझ में आती है कि होटल मालिक ने ईमानदार अधिकारी की हत्या इसलिए करा दी, क्योंकि इसमें बीजेपी सांसद महेश गिरी और एनडीएमसी उपाध्यक्ष करण सिंह तंवर का राजनीतिक संरक्षण और उपराज्यपाल का समर्थन था."

ट्विटर

उपराज्यपाल नजीब जंग का स्पष्टीकरण

इस बीच उपराज्यपाल नजीब जंग की तरफ से इस मामले में आप के आरोपों को निराधार बताया गया है. 

उपराज्यपाल कार्यालय से जारी बयान में कहा गया है, "एमएम खान की हत्या एक दुखद घटना है. आम आदमी पार्टी का इस मामले में दावा बहुत निम्न स्तर का है. इस दुखद घटना के जरिए राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश दुर्भाग्यपूर्ण है."

उपराज्यपाल कार्यालय की तरफ से कहा किया गया है, "वारदात के 24 घंटे के अंदर दिल्ली पुलिस ने सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया था. सब कुछ बरामद हो चुका है. इस मामले में आगे की जांच जारी है."

तंवर का आप पर पलटवार

दूसरी ओर बीजेपी के करन सिंह तंवर ने इस मामले में आम आदमी पार्टी पर पलटवार किया है. उन्होंने कहा, "चिट्ठि‍यों से मर्डर होता है क्या? उममें बम या गोली होती है क्या? आरोपी अरेस्ट हो चुके हैं." "

तंवर ने इस दौरान दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा, "केजरीवाल को किसी अस्पताल में भर्ती होकर अपना मानसिक इलाज करवाना चाहिए. नहीं तो ये आदमी दिल्ली को डुबो देगा. वह मेंटली डिफेक्टेड हैं. हमेशा मोदी-मोदी करते रहते हैं."

पुलिस कमिश्नर से जांच की मांग

इस बीच बीजेपी के पूर्वी दिल्ली से सांसद महेश गिरी ने आम आदमी पार्टी के दावों पर सवाल उठाए हैं. महेश गिरी ने कहा, "वह जो दस्तावेज दिखा रहे हैं उसमें 2017 लिखा हुआ है. लिहाजा यह अपने आप एक फर्जी दस्तावेज बन गया है."

गिरी ने कहा कि वे इस मामले में दिल्ली के पुलिस कमिश्नर को खत लिखते हुए जांच की मांग करने जा रहे हैं. साथ ही मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी पूछताछ के लिए बुलाया जाए. 

एनडीएमसी अधिकारी एमएम खान की हत्या

हाल ही में महेश गिरी ने इस मामले में केजरीवाल को खुली बहस की चुनौती दी थी. गिरी ने केजरीवाल के आवास के सामने दो दिन तक अनशन किया था. जिसे बाद में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने खत्म कराया था.

16 मई को दिल्ली के जामियानगर इलाके में एनडीएमसी के लीगल एडवाइजर मोहम्मद मोइन खान की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. पुलिस ने इस मामले में सात लोगों को गिरफ्तार किया है. आम आदमी पार्टी का आरोप है कि एक होटल मालिक को फायदा पहुंचाने के लिए हत्या की गई.

साथ ही आप का यह भी आरोप है कि एनडीएमसी के उपाध्यक्ष करण सिंह तंवर ने हत्या से कुछ दिन पहले एमएम खान को धमकी दी थी. आप ने बीजेपी सांसद महेश गिरी पर भी हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोप लगाया है.

First published: 23 June 2016, 16:08 IST
 
अगली कहानी