Home » इंडिया » AAP vs Chief Secretary: Delhi police reaches delhi cm kejriwal residence, Police says There was no camera in the room where the incident too
 

थप्पड़कांड: केजरीवाल के घर में CCTV नहीं कर रहा था काम, कैसे सामने आएगी सच्चाई?

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 February 2018, 14:56 IST

दिल्ली के मुख्य सचिव थप्पड़कांड मामले में दिल्ली पुलिस ने मुख्यमंत्री केजरीवाल के घर से 21 सीसीटीवी DVR सीज की है. दिल्ली पुलिस ने कहा है कि आज मुख्यमंत्री केजरीवाल से पूछताछ नहीं की गई है. जांच के दौरान केजरीवाल केवल 40 मिनट ही घर पर थे. जांच कर रही पुलिस ने सीएम स्टाफ को घर से बाहर जाने के लिए कहा है.

एडिशनल डीसीपी हरिंदर सिंह की अगुवाई में दिल्ली पुलिस केजरीवाल के आवास पहुंची. पुलिस के साथ फॉरेंसिक एक्सपर्ट की टीम भी है. दिल्ली पुलिस के केजरीवाल के घर पहुंचने पर मुख्यमंत्री कार्यालय ने आरोप लगाया है कि दिल्ली पुलिस बिना किसी सूचना के सीएम के घर पहुंची है. मुख्यमंत्री घर में ही मौजूद हैं.

 

पूछताछ में पता चला है कि केजरीवार के घर के ड्राइंग रूम में मीटिंग हुई थी. मीडिया से बातचीत करते हुए डीसीपी हरविंदर सिंह ने बताया कि घर में 21 में 14 कैमरों में रिकॉर्डिंग हो रही थी, जबकि 7 बंद पड़े थे.

डीसीपी ने बताया कि कैमरों की टाइमिंग 40 मिनट 42 सेकेंड पीछे चल रही थी. वारदात वाले कमरे में कैमरा नहीं था. उन्होंने कहा कि सीएम आवास में जांच इसलिए की गई है, ताकि क्राइम सीन को देखा जा सके.

 

इस मामले में आम आदमी प्रवक्ता आशुतोष ने कहा कि केंद्र सरकार हमें चाहें जितना डराने की कोशिश करे, हम डरने वाले नहीं हैं. केंद्र हमारी सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है. केंद्र सरकार घबराई हुई है. उन्होंने कहा कि सरकार असर मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए ये कार्रवाई कर रही है.

वहीं मुख्यमंत्री केजरीवाल ने दिल्ली पुलिस द्वारा की जा रही जांच पर खुशी जताते हुए कहा था कि मुझे खुशी है कि शिद्दत से इस मामले की जांच हो रही है. केजरीवाल ने इसके आगे यह भी कहा कि इतनी ही शिद्दत से जज लोया केस की जांच होनी चाहिए और अमित शाह पर जांच की हिम्मत दिखाई जाय.

First published: 23 February 2018, 14:56 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी