Home » इंडिया » After 50 days curfew in Kashmir valley lifted except in some parts of Srinagar
 

51 दिन बाद कश्मीर घाटी से हटा कर्फ्यू, श्रीनगर के कुछ हिस्सों में पाबंदी जारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 August 2016, 9:22 IST
(फाइल फोटो)

डेढ़ महीने से ज्यादा अरसे से अशांत कश्मीर घाटी में हालात सामान्य करने की दिशा में प्रशासन ने बड़ा कदम उठाया है. घाटी के ज्यादातर इलाकों में 51 दिन से जारी कर्फ्यू सोमवार को हटा दिया गया.

आठ जुलाई को दक्षिणी कश्मीर में हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी के सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारे जाने के बाद नौ जुलाई से ही घाटी में अशांति और तनाव है.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के मुताबिक, "पूरी घाटी से कर्फ्यू हटा दिया गया है, लेकिन पुलवामा और श्रीनगर के नौहट्टा और एमआर गुंज पुलिस थानों के ज्यादातर क्षेत्रों में कर्फ्यू जारी रहेगा.." 

4 सितंबर को प्रतिनिधिमंडल का दौरा

कर्फ्यू हटाने का फैसला रविवार शाम को हुई उच्चस्तरीय सुरक्षा बैठक में लिया गया. इस बीच राजनीतिक दलों के वरिष्ठ नेताओं सहित सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल 4 सितंबर को कश्मीर घाटी का दौरा करेगा.

इस दल का नेतृत्व केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह करने वाले हैं. साथ ही कांग्रेस की ओर से गुलाम नबी आजाद और पी चिदंबरम भी इस सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल में शामिल हो सकते हैं.

इसके अलावा माकपा की ओर से सीताराम येचुरी, जेडीयू से शरद यादव, सपा से रामगोपाल यादव और बसपा से सतीश चंद्र मिश्र दल का हिस्सा हो सकते हैं. इस बीच श्रीनगर के बटमालू में इलाके में झड़प के बाद दोबारा कर्फ्यू लागू किया गया है.

बंद जारी रखने की अपील

अलगाववादी संगठनों ने कर्फ्यू हटाए जाने के बावजूद बंद जारी रखने की अपील की है. अलगाववादियों ने पिछले हफ्ते जारी एक बयान में एक सितंबर तक बंद बढ़ाने का फैसला किया था. श्रीनगर में सभी बड़े अलगाववादी नेताओं को नजरबंद रखा गया है.

घाटी में आठ जुलाई के बाद हिंसक प्रदर्शनों के बीच सुरक्षाबलों की कार्रवाई में अब तक कुल 73 लोगों की मौत हो चुकी है. जिनमें 71 नागरिक और दो पुलिसकर्मी हैं. हिंसा में अब तक 11 हजार से ज्यादा लोग घायल हो चुके हैं. केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह दो बार कश्मीर का दौरा कर चुके हैं.

First published: 30 August 2016, 9:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी