Home » इंडिया » After Galvan Valley, now China deploys battalion in Lipulesk, visible movement of Chinese Soldier
 

गलवान घाटी के बाद अब चीन ने लिपुलेख में बटालियन को किया तैनात, सैनिकों की दिखी आवाजाही

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 August 2020, 14:40 IST

India China Face Off: भारत और चीन की सेना के बीच लद्दाख की गलवान घाटी में 15-16 जून की रात हिंसक झड़प हुई थी. इस झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हुए थे. झड़प में चीन के भी 40 से ज्यादा जवान हताहत हुए थे, हालांकि चीन ने अपने सैनिकों की संख्या का खुलासा नहीं किया था. इसके बाद अब चीन की पीपल्स लिब्रेशन ऑर्मी की एक बटालियन उत्तराखंड में लिपुलेख के पास नजर आ रही है.

हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, यह जगह लद्दाख सेक्टर के बाहर भारत-चीन की सीमा लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर मौजूद उन ठिकानों में से है जहां पिछले कुछ सप्ताह में चीनी सैनिकों की आवाजाही देखी गई है. भारतीय सेना के अधिकारियों ने नोटिस किया है कि इन इलाकों में चीनी सैनिकों की संख्या बढ़ रही है.

टॉप सैन्य कमांडर के अनुसार, लिपुलेख पास, उत्तरी सिक्किम तथा अरुणाचल प्रदेश के हिस्सों में भी चीन एलएसी पर अपने सैनिकों की तैनाती कर रहा है. बता दें कि लिपुलेख पास मानसरोवर यात्रा की रूट पर है. लिपुलेख पास इन दिनों भारत और नेपाल के बीच विवाद को लेकर सुर्खियों में है. दरअसल यहां पर भारत ने 80 किलोमीटर की सड़क बनाई है, जिसपर नेपाल को आपत्ति थी.

लिपुलेख पास के जरिए भारत और चीन के आदिवासी जून से अक्टूबर के दौरान वस्तु व्यापार करते हैं. इस पास के नजदीक सड़क निर्माण के बाद नेपाल ने अपना एक नया राजनीतिक नक्शा बनाया था, जिसमें भारत के कुछ इलाकों को अपने नक्शे में दर्ज किया था. इसके बाद ही भारत-नेपाल के बीच तनाव पैदा हुआ.

जम्मू-कश्मीर: पाकिस्तान ने फिर किया सीजफायर का उल्लंघन, सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब, एक जवान शहीद

नेपाल ने अपने नए नक्शे में भारतीय क्षेत्रों कालापानी, लिपुलेख तथा लिंपियाधुरा को दिखाया था. लिपुलेख पास ऐसी जगह है जो भारत-चीन-नेपाल तीनो देशों की सीमा के ट्राइजंक्शन पर है. इसी जगह पर चीनी सैनिकों की आवाजाही दिख रही है. भारतीय सेना के शीर्ष अधिकारियों के अनुसार, लिपुलेख पास पर पीएलए ने एक बटालियन को तैनात किया है. इस बटालियन में 1000 के करीब चीनी सैनिक हैं.

जिस जगह पर चीनी सैनिकों की आवाजाही देखी गई है यह भारतीय सीमा से कुछ ही दूरी पर है. अन्य सैन्य अधिकारी ने के अनुसार, इससे यह सिग्नल मिलता है कि चीनी सैनिक तैयार हैं. इसके बाद भारत ने भी चीनी सैनिकों के बराबर अपनी संख्या बढ़ा दी है. भारत नेपाल पर भी नजर रख रहा है. सैन्य अधिकारी ने बताया कि LAC पर स्थिति लगातार बदल रही है.

बाइक पर लगाया लोकल हेलमेट तो कटेगा भारी-भरकम चालान, उत्पादन पर दो लाख रुपये का जुर्माना

बिना सब्सिडी वाले रसोई गैस सिलेंडर को लेकर आई बड़ी खुशखबरी, जानिए क्या है आपके शहर का रेट

First published: 1 August 2020, 14:30 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी