Home » इंडिया » After Pakistan now Nepal has raised questions on the new map of India
 

भारत के नए नक्शे में इस इलाके को लेकर नेपाल ने जताई आपत्ति, पाकिस्तान ने भी उठाया था सवाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 November 2019, 15:10 IST

भारत ने अपना नया नक्शा जारी किया है जिसे लेकर पाकिस्तान के बाद अब नेपाल ने भी सवाल उठा दिए हैं. नेपाल ने एक आधिकारिक बयान जारी कर इस नक्शे पर आपत्ति जताई है. दरअसल, भारत के नए नक्शे में 'कालापानी' भारतीय क्षेत्र में दिखाया गया है. इसे उत्तराखंड राज्य में दिखाया गया है.

इसी पर नेपाल ने कड़ी आपत्ति जताई है. नेपाल ने अपने बयान में कहा कि हम पूरी तरह से स्पष्ट करना चाहते हैं 'कालापानी' नेपाल का अभिन्न हिस्सा है. नेपाल ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा करने को लेकर हम पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं. इसके लिए हम मित्र देशों के साथ कूटनीतिक वार्ता का रास्ता अपनाएंगे.

 

नेपाल के विदेश मंत्रालय ने कहा, "कालापानी का इलाका नेपाल की सीमा में आता है. विदेश सचिव स्तर की संयुक्त बैठक में भारत और नेपाल की सीमा संबंधी मुद्दों को संबंधित विशेषज्ञों की मदद से सुलझाने की जिम्मेदारी दोनों देशों के विदेश सचिवों को दी गई है. सीमा संबंधित लंबित सारे मुद्दों को आपसी मदद से सुलझाने की जरूरत है. कोई भी एक तरफा कार्रवाई नेपाल को स्वीकार नहीं है."

 

नेपाल के स्थानीय मीडिया ने भी बताया कि कालापानी नेपाल के धारचुला जिले का हिस्सा है. इसे भारत के नए मानचित्र में उत्तराखंड राज्य के पिथौरागढ़ जिले का हिस्सा दिखाया गया है. दरअसल जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के अनुबंधों को कम किए जाने के बाद भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर को दो हिस्सों में बांट दिया था.

इसके बाद भारत सरकार ने पिछले सप्ताह देश का नया राजनीतिक मानचित्र जारी किया. इस मानचित्र को लेकर पाकिस्तान ने भी भारत पर निशाना साधा था. भारत के नए मानचित्र में गिलगिट-बाल्टिस्तान को भारत के लद्दाख राज्य का हिस्सा बताया गया है, इसे लेकर पाकिस्तान में हड़कंप मच गया.

फडणवीस को RSS की सलाह- अगर शिवसेना चाहती है NCP-कांग्रेस के साथ सरकार बनाना तो बनाने दें

ED, CBI और IT के रूप में विरोधियों पर त्रिशूल का इस्तेमाल कर रहे मोदी और अमित शाह- कांग्रेस

First published: 7 November 2019, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी