Home » इंडिया » After the attack on Indian soldiers on LAC, China manipulated, said - stop your troops
 

LAC पर भारतीय सैनिकों पर हमले के बाद चीन की बेशर्मी देखिए, कहा- भारत अपने सैनिकों को रोके

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 June 2020, 16:24 IST

भारत और चीन के बीच गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में भारतीय सेना के एक अधिकारी और दो सैनिक शहीद हो गए. यह मुठभेड़ पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के साथ हुई थी. ANI के अनुसार चीन ने भारत के समक्ष अपना विरोध दर्ज कराया है. चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा ''यहां हम भारत को प्रासंगिक समझौते का ईमानदारी से पालन करने और सीमा पर अपने सैनिकों को सख्ती से रोकने की मांग कर रहे हैं. चीन का कहना है भारत को सीमा पार नहीं करनी चाहिए''.

भारतीय सेना ने कहा कि यह घटना गलवान घाटी में डी-एस्केलेशन प्रक्रिया के दौरान हुई है. सेना ने यह भी कहा कि दोनों पक्षों के वरिष्ठ सैन्य अधिकारी वर्तमान में स्थिति को सही करने के लिए बैठक कर रहे हैं. कहा गया है कि दोनों देशो के बीच कोई फायरिंग नहीं हुई. सभी मौतें फेंके गए पत्थरों से हुई हैं. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मामले से परिचित लोगों ने नाम न छापने की शर्त पर यह जानकारी दी है. सेना ने इस पर कोई टिप्पणी नहीं की.


LAC पर हुई हिंसक झड़प पर चीन ने दी ये प्रतिक्रिया, उल्टे भारत पर लगाए सीमा क्रॉस करने के आरोप

सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने मंगलवार को पठानकोट की एक निर्धारित यात्रा रद्द कर दी. सेना ने जानकारी दी कि भारतीय सेना ने एक कर्नल सहित दो सैनिक शहीद हुए हैं. इस मामले से परिचित एक व्यक्ति ने कहा कि दोनों पक्षों को नुकसान हुआ है लेकिन चीन ने इसका खुलासा नहीं किया है.

भारत-चीन विवाद: गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प, एक भारतीय अधिकारी और दो जवान हुए शहीद

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कल की घटना के बाद पूर्वी लद्दाख में मौजूदा परिचालन की स्थिति की समीक्षा की, साथ ही साथ चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) और तीन सेवा प्रमुखों की भी बात की. बैठक के दौरान विदेश मंत्री एस जयशंकर भी मौजूद थे. यह 1975 के बाद पहली बार है जब चीन के साथ टकराव में भारतीय सैनिक मारे गए. समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने बताया कि चीन के विदेश मंत्रालय ने भारत से कहा है कि उसे एकपक्षीय कार्रवाई नहीं करनी चाहिए.

चीनी सेना के साथ हिंसक झड़प में तीन जवानों की मौत, CDS विपिन रावत से मिले रक्षामंत्री राजनाथ सिंह

First published: 16 June 2020, 16:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी