Home » इंडिया » after the death of one accused ravi, tension arises in bisahra village of Dadri
 

दादरी कांड के मुलज़िम रवि का शव तिरंगे में लपेटा, बिसहड़ा गांव में तनाव

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 October 2016, 17:45 IST
QUICK PILL
दिल्ली के लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल में दादरी कांड के एक आरोपी रवि की  मंगलवार को मौत हो गई है.

दादरी का बिसहड़ा गांव एक बार फ़िर सांप्रदायिक तनाव की चपेट में है. तनाव की वजह दादरी कांड के 18 मुलज़िमों में से एक रवि की मौत हो जाना है. बिसहड़ा में रवि के घरवालों ने इस मौत के लिए उत्तर प्रदेश पुलिस को ज़िम्मेदार ठहराया है. वहीं लोकनायक जयप्रकाश अस्पताल के मुताबिक उनकी मौत किडनी फेल होने से हुई है. मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का सही-सही पता चल पाएगा.

मंगलवार को रवि की मौत होने के बाद उनके घरवालों ने गांव के मंदिर में पंचायत कर मांग की कि दिसंबर 2015 में कथिततौर पर हुई गोहत्या के मुलज़िम जान मोहम्मद को गिरफ़्तार किया जाए, तभी रवि का अंतिम क्रियाकर्म किया जाएगा. जान मोहम्मद अख़लाक़ के भाई हैं और इनपर कार्रवाई के लिए बिसहड़ा की पांच औरतें अनशन पर बैठ गई हैं.

रवि का शव गुरुवार को पोस्टमार्टम के बाद उनके घर बिसहड़ा पहुंचा. यहां उनके शरीर पर तिरंगा झंडा लिपटा हुआ था. उनकी लाश के सामने मातम करने के अलावा भड़काऊ भाषणबाज़ी भी की गई है.

घरवालों और ग्रामीणों का आरोप है कि रवि के साथ जेल में मारपीट की गई जिसकी वजह से उनकी मौत हुई है. मगर एलएनजेपी अस्पताल के डॉक्टरों ने मौत की वजह गुर्दों का फेल हो जाना बताया है.

पीटीआई के मुताबिक जिस वक़्त उत्तर प्रदेश पुलिस रवि को अस्पताल लाई, उनकी हालात काफ़ी ख़राब थी. उनका 'ब्लड शुगर' बढ़ा हुआ था और उन्हें सांस लेने में भी तकलीफ हो रही थी.

फिलहाल रवि के ख़ून के सैंपल जांच के लिए भेजे जा चुके हैं. रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारणों का पता ठीक-ठीक चल पाएगा.

वहीं उत्तर प्रदेश पुलिस ने गांव में बड़ी संख्या में पीएसी और पुलिस के जवान तैनात कर दिए हैं और हालात सामान्य करने की कोशिशें जारी हैं.

First published: 6 October 2016, 17:45 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी