Home » इंडिया » After UK referendum Delhi will soon have a referendum on full statehood weets Arvind Kejriwal
 

केजरीवाल: पूर्ण राज्य के दर्जे के लिए दिल्ली में जल्द जनमत संग्रह

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 June 2016, 16:35 IST
(पीटीआई)

जनमत संग्रह में यूरोपीय यूनियन से अलग होने के फैसले पर ब्रिटेन की मुहर के बाद वहां सियासी उथल-पुथल देखा जा रहा है. इस बीच सीएम अरविंद केजरीवाल भी दिल्ली में जनमत संग्रह कराना चाहते हैं.

दिल्ली को अभी पूर्ण राज्य का दर्जा हासिल नहीं है. कई बार आम आदमी पार्टी इस बात को मुद्दा बनाती रही है. ब्रिटेन में आज जनमत संग्रह का नतीजा आने के बाद अब केजरीवाल दिल्ली में भी पूर्ण राज्य के दर्जे के लिए ऐसी ही प्रक्रिया की वकालत कर रहे हैं.

जनमत संग्रह के बाद ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने इस्तीफे की घोषणा कर दी है, वहीं ब्रिटेन से दूर दिल्ली में आम आदमी पार्टी भी अब राज्य में जनमत संग्रह कराना चाहती है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस सिलसिले में एक ट्वीट किया है.

केजरीवाल ने शुक्रवार को ट्वीट करते हुए कहा, "यूके रेफरेंडम के बाद जल्द ही दिल्ली में भी पूर्ण राज्य को लेकर जनमत संग्रह किया जाएगा."

'दिल्ली में जनमत संग्रह का वक्त'

केजरीवाल के ट्वीट से तकरीबन बीस मिनट पहले आम आदमी पार्टी के नेता आशीष खेतान ने भी ऐसे ही जनमत संग्रह की बात की थी. केजरीवाल ने खेतान के ट्वीट को रीट्वीट किया है.

आशीष खेतान ने ट्वीट किया, "जनमत संग्रह में यूरोपीय यूनियन से यूनाइटेड किंगडम के बाहर होने के बाद दिल्ली में भी पूर्ण राज्य के दर्जे के लिए रेफरेंडम का वक्त आ गया है. लोकतंत्र में जनता की इच्छा सर्वोच्च है."

दरअसल, अरविंद केजरीवाल की सरकार लंबे समय से दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग कर रही है. हर बार उन्हें केंद्र के रवैये और राजनीतिक दबाव के कारण इस मुद्दे पर पीछे हटना पड़ा है.

जब-जब दिल्ली की कानून व्यवस्था को लेकर सवाल उठते हैं, तो आम आदमी पार्टी सरकार, दिल्ली पुलिस के केंद्र के अधीन होने का हवाला देती रही है. ऐसे में ब्रिटेन में जनमत संग्रह के नतीजे के बाद पार्टी दिल्ली में पूर्ण राज्य के दर्जे के लिए रेफरेंडम की मांग को मुफीद वक्त और मौका मान रही है.

First published: 24 June 2016, 16:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी