Home » इंडिया » Again azam khan delver a derogatory speech
 

फिर दिया आजम ने विवादित बयान

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 January 2016, 23:09 IST

उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी की सरकार में मंत्री आजम खान ने अपने बयान में प्रदेश सरकार पर तंज कसते हुए नसीहत दे डाली.

आजम खान ने अपने बयान में दो दिन पहले मकर संक्राति के मौके पर फतेहपुर जिले में दो समुदायों के बीच फैले तनाव पर कहा कि यह असिहुष्णता का मामला है और राज्य सरकार को समुचित कदम उठाते हुए स्थिति को अपने नियंत्रण में करना चाहिए.

इसके अलावा उन्होंने बसपा पर निशाना साधते हुए कहा कि राजनीति में नेताओं के पैरों में बैठने की परंपरा को बसपा ने ही जन्म दिया है.

गौरतलब है कि अभी हाल में ही बसपा ने 2017 में अपनी अतरौली विधान सभी सीट की संभावित प्रत्याशी संगीता चौधरी का टिकट इसलिए काट दिया था क्योंकि उन्होंने अपने फेसबुक पर मायावती की पैर छुती हुई फोटो अपलोड कर दी थी.

इसके अलावा अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के अल्पसंख्यक दर्जे के मामले पर बोलते हुए खान ने कहा कि अल्पसंख्यकों को न्याय सिर्फ मुसलमान नेता ही दे सकता है.

समाजवादी पार्टी के आजम खान विवादित बयानों के लिए अक्सर सुर्खियों में रहते हैं.

आजम खान ने अभी हाल में ही आरएसएस के कार्यकर्ताओं पर विवादित बयान देते हुए कहा था कि  संघ के नेता गे होते हैं.

इसके अलावा दादरी कांड को यूएन में ले जाने की धमकी देते हुए आजम खान ने कहा था कि हिम्मत है तो बीफ बेचने वाले होटलों को बाबरी मस्जिद की तरह तोड़ दो.

साल 2013 में आजम खान ने कारगिल युद्ध पर विवादित बयान देते हुए कहा था कि कारगिल की पहाड़ियों पर फतह करने वाले सेना के जवान हिंदू नहीं मुस्लिम थे.

First published: 16 January 2016, 23:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी