Home » इंडिया » Agra: school given 1 crore notice to student
 

आगरा: सवाल पूछने की सजा एक करोड़ !

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:49 IST

आगरा के एक स्कूल ने 8वीं के एक छात्र को अवमानना का एक करोड़ रुपए का कानूनी नोटिस भेजा है. बताया जा रहा है कि स्कूल ने छात्र को इसलिए नोटिस भेजा है, क्योंकि उसके पिता ने स्कूल से छात्र के फेल होने की वजह पूछी थी.

घटना के बारे में बताया जा रहा है कि छात्र के पिता ने एक वकील के जरिए स्कूल को कानूनी नोटिस भेजकर अपने बच्चे को आठवीं में फेल करने का कारण पूछा था. पिता का आरोप है कि स्कूल ने छात्र को पास करने के लिए उनसे पैसे की मांग की थी.  

छात्र को मानहानि का नोटिस


जिसके बाद स्कूल प्रशासन ने संस्था की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाते हुए छात्र के पिता के बजाए छात्र को 1 करोड़ रुपये का अवमानना का नोटिस भेज दिया.

छात्र के पिता ने बताया कि उन्होंने अपने बच्चे को फेल किए जाने के मामले में स्कूल के खिलाफ शिक्षा विभाग के अधिकारियों से शिकायत की थी.

छात्र के पिता ने अधिकारियों से शिक्षा का अधिनियम-2009 का हवाला देते हुए बताया था कि स्कूल के द्वारा 8वीं तक के छात्रों को फेल नहीं किया जा सकता. 

शिक्षा विभाग को जवाब से इनकार


इस शिकायती पत्र पर संयुक्त निदेशक शिक्षा ने स्कूल के प्रिंसिपल से रिपोर्ट भी मांगी थी. लेकिन स्कूल ने इस मामले में शिक्षा विभाग को कोई जवाब नहीं दिया.

छात्र के पिता ने स्कूल को लीगल नोटिस भिजवाया. नोटिस में छात्र के पिता ने आरोप लगाया कि स्कूल प्रशासन का उनके बेटे के प्रति पक्षपातपूर्ण रवैया था. कई बार उनके बेटे से पैसे की अवैध मांग भी की गई.

पिता का आरोप है कि उनके बेटे को एग्जाम से पहले ही फेल करने की धमकी दी गयी थी. छात्र के वकील ने इस नोटिस में उन तमाम सुर्कलर और कानून का हवाला दिया है, जिसके मुताबिक आठवीं तक के किसी भी छात्र को फेल नहीं किया जा सकता.

अगर स्कूल प्रबंधन ने ऐसा किया है, तो उन्हें माता-पिता को इसका कारण बताना होगा.

हर्जाना या आरोप वापस लेने का नोटिस


स्कूल प्रबंधन ने इस नोटिस के जवाब में छात्र को अवमानना का आरोपी बताते हुए एक करोड़ रुपये के भुगतान का नोटिस भेज दिया है. नोटिस में कहा गया है कि आरोपों से स्कूल की गरिमा को क्षति पहुंची है और इससे स्कूल की मानहानि हुई है.

स्कूल ने अपने नोटिस में लिखा है कि आरोपी द्वारा या तो नुकसान की भरपाई के लिए स्कूल को एक करोड़ रुपये अदा किए जाएं या फिर बिना शर्त माफी मांगते हुए नोटिस में लगाए गए आरोप को वापस लिया जाए.

First published: 11 May 2016, 5:18 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी