Home » इंडिया » Agusta Helicopter deal: Chhattisgarh CM Raman Singh rejects corruption allegation of Prashant Bhushan
 

अगस्ता खरीद: रमन सिंह ने घोटाले के आरोपों को बताया राजनीति से प्रेरित

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 May 2016, 11:00 IST

अगस्ता हेलीकॉप्टर खरीद में भ्रष्टाचार के आरोपों से छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने इनकार किया है. आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता प्रशांत भूषण ने गुरुवार को 2007 में हुई डील में साढ़े दस करोड़ की दलाली का आरोप लगाया था.

छत्तीसगढ़ की रमन सिंह सरकार ने आरोपों को खारिज किया है. मुख्यमंत्री रमन सिंह ने राज्य में हेलीकॉप्टर खरीद में भ्रष्टाचार होने के आरोपों से इनकार किया है.रमन सिंह का कहना है कि ये आरोप राजनीति से प्रेरित हैं. 

'अगस्ता वेस्टलैंड केस को भटकाने का प्रयास'


सीएम का कहना है कि राज्य सरकार पर हेलीकॉप्टर खरीद में भ्रष्टाचार का आरोप लगाना केवल राजनीति से प्रेरित है. प्रशांत भूषण अगस्ता मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के उपर लगे आरोपों से मुददे को भटकाने का प्रयास कर रहे हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगस्ता वेस्टलैंड मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं पर लगातार आरोप लग रहे हैं. ऐसे समय में बीजेपी शासित प्रदेश पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया जा रहा है. 

कानूनी कार्रवाई पर विचार


इस मामले में प्रशांत भूषण पर किसी प्रकार की कानूनी कार्रवाई के सवाल पर रमन सिंह ने कहा कि वो वकीलों की राय लेंगे. रमन सिंह ने सफाई देते हुए कहा कि राज्य सरकार ने पूरी पारदर्शी प्रक्रिया के तहत हेलीकॉप्टर की खरीद की है. 

पढ़ें: प्रशांत भूषण: छत्तीसगढ़ सरकार ने अगस्ता हेलीकॉप्टर की खरीद में किया भ्रष्टाचार

सीएम का कहना है कि तकनीकी समिति की इजाजत के बाद ही हेलीकॉप्टर की खरीद की गई. रमन सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान प्रशांत भूषण के संगठन स्वराज अभियान के आरोपों को खारिज कर दिया. 

आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता और स्वराज अभियान के संस्थापकों प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव ने दावा किया था कि छत्तीसगढ़ की रमन सिंह सरकार ने हेलीकॉप्टर हासिल करने के लिए अनियमितता की.

प्रशांत भूषण का आरोप है कि उस कंपनी को 15.7 लाख डॉलर बतौर कमीशन दिए गए, जिसका पंजीकरण टैक्स चोरी के पनाहगाह माने जाने वाले ब्रिटिश वर्जिन आईलैंड में हुआ था.

सीएजी रिपोर्ट पर सफाई


मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले में आरोपों के लिए नियंत्रक महालेखा परीक्षक (सीएजी) की रिपोर्ट को आधार बनाया जा रहा है, जबकि सीएजी ने हेलीकॉप्टर खरीद में 65 लाख ज्यादा व्यय किए जाने पर टिप्पणी की है.

झारखंड सरकार ने अगस्ता हेलीकॉप्टर की खरीद 2006 में की थी और छत्तीसगढ़ सरकार ने यह खरीद 2007 में की थी. हेलीकॉप्टर कंपनी ने छत्तीसगढ़ सरकार के लिए हेलीकॉप्टर का रेट बढ़ा दिया.

रमन सिंह का कहना है कि पारदर्शी तरीके से हेलीकॉप्टर की खरीद की गई. राज्य में हेलीकॉप्टर खरीद में किसी भी तरह का भ्रष्टाचार नहीं हुआ है और जब राज्य विधानसभा में यह मामला आएगा तब सरकार विचार करेगी. 

बेटे अभिषेक ने खारिज किए आरोप


इससे पहले आज राजनांदगांव लोकसभा क्षेत्र के सांसद और मुख्यमंत्री रमन सिंह के पुत्र अभिषेक सिंह ने एक विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार के हेलीकॉप्टर खरीद से उनका कोई संबंध नहीं है.

अभिषेक सिंह ने विदेशी बैंक में खाते होने के आरोपों को भी खारिज करते हुए कहा कि उन्होंने पहले भी साफ किया है कि उनका विदेश के किसी भी बैंक में कोई खाता नहीं है. 

'सारदा ब्रदर्स से कोई संबंध नहीं'


बीजेपी सांसद अभिषेक ने कहा कि उन पर सारदा ब्रदर्स की कंपनी में नौकरी करने का भी आरोप लगाया जा रहा है. वो साफ करना चाहते हैं कि सारदा ब्रदर्स कभी भी उनके नियोक्ता नहीं रहे हैं.

सांसद ने कहा कि जहां तक छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा 2007 में हेलीकॉप्टर खरीद का विषय है. उससे उनका कोई सरोकार नहीं है. यह आरोप केवल राजनीतिक रूप से उन्हें बदनाम करने की कोशिश है.

First published: 13 May 2016, 11:00 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी