Home » इंडिया » Agusta Westland Case: SP Tyagi granted bail by Patiala House Court
 

अगस्ता वेस्टलैंड: पूर्व एयर चीफ मार्शल एसपी त्यागी को मिली ज़मानत

कैच ब्यूरो | Updated on: 26 December 2016, 13:40 IST

दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट स्थित सीबीआई की विशेष अदालत ने अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी हेलीकॉप्टर मामले में पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी को दो लाख रुपये के निजी मुचलके पर  जमानत दे दी है. 

इसके अलावा अदालत ने त्यागी को हिदायत दी है कि वे दिल्‍ली-एनसीआर छोड़कर ना जाएं और गवाहों या जांच प्रक्रिया को किसी भी तरह से प्रभावित करने की कोशिश न करें. हालांकि कोर्ट ने संजीव त्‍यागी और गौतम खेतान की जमानत याचिका पर सुनवाई टाल दी. इन दोनों की याचिका पर सुनवाई 4 जनवरी 2017 को होगी, तब तक दोनों न्‍यायिक हिरासत में रहेंगे.

देश छोड़ने की इजाजत नहीं

दूसरी ओर सीबीआई ने अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में सभी आरोपियों की जमानत याचिका का विरोध किया था. उन्होंने कहा था कि अगर उन्हें रिहा कर दिया गया, तो वे गवाहों को प्रभावित कर सकते हैं और कई देशों से जुड़े एक से अधिक क्षेत्राधिकारों में विभिन्न एजेंसियों द्वारा बहुस्तरीय जांच प्रभावित हो सकती है.

इससे पहले दिल्ली कोर्ट ने 17 दिसंबर को इस मामले में एसपी त्यागी समेत तीनों आरोपियों की न्‍यायिक हिरासत को 30 दिसंबर तक के लिए बढ़ा दिया था.  

क्या है अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला?

3600 करोड़ की अगस्ता वीवीआईपी हेलीकॉप्टर डील में एयरफोर्स के पूर्व चीफ एस पी त्यागी का नाम फरवरी 2013 में इटली के एयरोस्पेस और डिफेंस निर्माण कंपनी फिनमैकानिका के मुखिया गियूसेप्पे ओरसी की गिरफ्तारी के बाद एक बार फिर चर्चा में आया था.

भारत के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और सेना प्रमुखों की सुविधा के लिये खरीदे गये 12 एडब्ल्यू-101 हेलिकॉप्टरों में भारतीय अधिकारियों को रिश्वत देने की जांच के बाद एयरोस्पेस और डिफेंस निर्माण कंपनी फिनमैकानिका के मुखिया गियूसेप्पे ओरसी को गिरफ्तार किया गया था.

भारतीय रक्षा मंत्रालय ने फिनमैकानिका से 2010 में 12 अति सुरक्षित अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर की ख़रीददारी को हरी झंडी दी थी.

इटली सरकार की जांच में यह बात सामने आई कि फिनमेकेनिका एयरोस्पेस डिफेंस कंपनी ने तत्कालीन वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी को मध्यस्थों के माध्यम से रिश्वत की रकम पहुंचाई थी. 

हालांकि एस पी त्यागी ने ऐसे सभी आरोपों से इनकार करते हुये कहा है कि इस तरह की किसी जांच की बात उन्हें नहीं पता है और उन्होंने किसी भी मामले में कभी कोई रिश्वत नहीं खाई.

First published: 26 December 2016, 13:40 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी