Home » इंडिया » agusta westland case what ed tells delhis patiala house court about deal, know and christian michel
 

अगस्ता वेस्टलैंड: मिशेल ने लिया सोनिया-राहुल का नाम, बढ़ेगी कांग्रेस की मुश्किलें

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 December 2018, 16:52 IST

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट को बताया कि अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले में बिचौलिए की भूमिका निभाने वाले क्रिस्चन मिशेल ने पूछताछ में सोनिया गांधी का नाम लिया है. लेकिन ईडी ने साफ तौर पर ये नहीं बताया कि मिशेल ने सोनिया गांधी का नाम किस संदर्भ में लिया है. इसके साथ ही ईडी ने दावा किया कि मिशेल ने ''इटली की महिला के बेटे'' का जिक्र किया है. इससे ऐसे संकेत मिलते हैं कि मिशेल ने राहुल गांधी का भी जिक्र किया है. दूसरी ओर कांग्रेस ने कहा है कि हिरासत में मिशेल पर सरकारी एजेंसियों द्वारा दबाव डाला गया है.

प्रवर्तन निदेशालय ने कोर्ट को यह भी बताया कि बिचौलिए ने ''इटली की महिला के बेटे'' का भी जिक्र किया और बताया कि वह ''देश के अगले प्रधानमंत्री'' बन सकते हैं. प्रवर्तन निदेशालय ने अदालत को बताया कि मिशेल ने यह भी जानकारी दी कि HAL किस तरह डील से बाहर किया गया और उसकी जगह टाटा को मौका दिया गया. ईडी के अधिकारियों ने कोर्ट से ये मांग की कि क्रिस्चन मिशेल को उसके वकील से न मिलने दिया जाए क्योंकि उसे बाहर से सिखाया जा रहा है जिससे जांच प्रभावित हो सकती है.

क्या है अगस्ता वेस्टलैंड

अगस्ता वैस्टलैंड डील की शुरुआत अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में हुई थी, जिसके बाद मनमोहन सरकार में यह आगे बढ़ी और इस पर विवाद हुआ. साल 2014 में मोदी सरकार आने से पहले यूपीए-2 ने इस डील को रद्द कर दिया. इस साल 05 दिसंबर को इतालवी कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड के साथ वीवीआईपी हेलिकॉप्टर डील में हुए कथित घोटाले के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल को भारत लाने में अंतत: केंद्र सरकार को सफलता मिल गई.

बढ़ेगी राहुल-सोनिया की मुश्किलें

राजनीतिक रूप से बेहद संवेदनशील इस कथित घोटाले के आरोपी द्वारा राहुल और सोनिया गांधी के नाम लिए जाने से गांधी परिवार और कांग्रेस की मुसीबतें बढ़ती दिख रही है. ऐसे में 2019 लोक सभा चुनाव में बीजेपी और अन्य कांग्रेस विरोधी पार्टियां इसे एक बड़ा मुद्दा बना सकती है. ''राफेल'' पर सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिलने के बाद अब मोदी और उनके कुनबे अगस्ता वेस्टलैंड पर हमलावर नजर आ सकते हैं और इसका फायदा आम चुनाव में उठाने का पूरा प्रयास करेंगे.

First published: 29 December 2018, 16:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी