Home » इंडिया » Agusta Westland chopper scam case: Ex-IAF chief Tyagi's offence shamed country, CBI to HC
 

​अगस्टा वेस्टलैंड घोटाला: सीबीआई ने कोर्ट मे दिया बयान- 'पूर्व वायुसेना चीफ ने देश को किया शर्मसार'

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:45 IST
(फाइल फोटो )

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने सोमवार को दिल्ली उच्च न्यायालय में आरोप लगाया कि अगस्टा वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाला मामले में आरोपी पूर्व वायुसेना प्रमुख एसपी त्यागी ने जघन्य अपराध किया है, जो कि देश को शर्मसार करता है.

केंद्रीय जांच एजेंसी ने कहा कि निचली अदालत द्वारा उन्हें जमानत देने का आदेश ‘अवैध’ है. त्यागी की जमानत को चुनौती देने वाली एजेंसी ने न्यायमूर्ति आईएस मेहता के सामने दावा किया कि यह एक गंभीर मामला है और आरोपी उच्च न्यायालय के सामने कार्यवाही में विलंब की कोशिश कर रहा है. इस मामले में संलिप्त कई अन्य लोग चाहते हैं कि वह जेल से बाहर रहें.

सीबीआई की ओर से पेश अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने अदालत से कहा, ‘यह एक गंभीर मामला है जो देश को शर्मसार करता है. आरोपी(एसपी त्यागी) जिस आधार पर जमानत पर जेल से बाहर है, वह जमानत आदेश में देख सकते हैं. सीबीआई के मुताबिक, वह एक 'अवैध' आदेश के आधार पर जेल से बाहर हैं. निचली अदालत का यह आदेश सबूतों के विपरीत है.

वहीं त्यागी के वकील ने अपने मुवक्किल का बचाव करते हुए दावा किया कि इस मामले में त्यागी के खिलाफ कोई साक्ष्य नहीं है और वह सीबाआई के आवेदन और अतिरिक्त हलफनामे का जवाब देंगे, जो एजेंसी ने छह जनवरी को दायर किया था. हालांकि,अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल ने अदालत को बताया कि पूर्व वायुसेना प्रमुख की जमानत रद्द करने के आग्रह के साथ ही सीबीआई ने दो अन्य सह-आरोपियों (संजीव त्यागी उर्फ जूली और वकील गौतम खेतान) को जमानत देने के निचली अदालत के आदेश के खिलाफ भी अलग से आवेदन दायर किए हैं.

First published: 9 January 2017, 7:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी