Home » इंडिया » Agusta Westland Scam: ED conducts searches at 10 locations in 3 metro cities, freezes shares worth Rs 86.07 crore
 

अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला: ईडी का तीन शहरों में छापा, 86 करोड़ के शेयर जब्त

कैच ब्यूरो | Updated on: 20 June 2016, 17:02 IST

अगस्ता वेस्टलैंड वीवीआईपी चॉपर घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मुंबई, दिल्ली और हैदराबाद में करीब 10 जगहों पर छापेमारी की है. बताया जा रहा है कि छापे की कार्रवाई सोमवार दोपहर में शुरू हुई.

छापेमारी के दौरान तीनों शहरों से घोटाले के सिलसिले में ईडी ने दुबई, मॉरिशस और सिंगापुर की कंपनियों के शेयर जब्त किए. बताया जाता है कि ईडी ने तकरीबन 86.07 करोड़ रुपये के शेयर जब्त किए हैं.

क्या है अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला?

वीवीआईआई हेलीकॉप्टर अगस्ता वेस्टलैंड सौदे में इटली की एक अदालत का फैसला आने के बाद देश की राजनीति में भूचाल आ गया था. आरोप है कि 53 करोड़ डॉलर का ठेका पाने के लिए कंपनी ने भारतीय अधिकारियों को 125 करोड़ रुपये तक की रिश्वत दी थी.

पढ़ें: अगस्ता वेस्टलैंड घोटाला: जद में पूर्व वायुसेनाध्यक्ष एसपी त्यागी और कांग्रेसी नेता

इटली की मिलान कोर्ट ऑफ अपील्स के फैसले में पूर्व वायुसेनाध्यक्ष एसपी त्यागी का भी नाम सामने आया था. इस मामले में सीबीआई ने त्यागी से कई बार पूछताछ भी की है.

2014 में रद्द हुआ 3600 करोड़ का करार

12 वीवीआईपी हेलीकॉप्टरों की खरीद के लिए एंग्लो-इतालवी कंपनी अगस्ता-वेस्टलैंड के साथ 2010 में करार पर मुहर लगी थी. 3 हजार 600 करोड़ रुपये के करार को जनवरी 2014 में भारत सरकार ने रद्द कर दिया था. इस डील में कथित रूप से 360 करोड़ रुपये की दलाली का आरोप लगा.

दलाली की खबरों के सामने आने के बाद भारतीय वायुसेना को दिए जाने वाले 12 वीवीआईपी हेलीकॉप्टरों की सप्लाई के करार पर सरकार ने फरवरी 2013 में रोक लगा दी थी.

पढ़ें: अगस्ता वेस्टलैंड मामला: आरोपों पर सोनिया का पलटवार, किसी से डरती नहीं

जिस वक्त करार पर रोक लगाने का आदेश जारी किया गया, उस वक्त भारत ने 30 फीसदी भुगतान कर दिया था. तीन अन्य हेलीकॉप्टरों के लिए आगे के भुगतान की प्रक्रिया चल रही थी.

First published: 20 June 2016, 17:02 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी