Home » इंडिया » Agusta Westland: Subramanian Swamy challenges his expunged remarks in Rajyasabha
 

अगस्ता वेस्टलैंड मामला: टिप्पणी हटाए जाने को स्वामी ने दी चुनौती

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 May 2016, 12:35 IST

राज्यसभा सदस्य सुब्रमण्यम स्वामी ने राज्यसभा के उप सभापति द्वारा सदन की कार्यवाही से उनकी टिप्पणी को हटाए जाने को चुनौती दी है. स्वामी ने फैसले को मनमाना, अनुचित और सदन के नियमों के खिलाफ बताया है.

राज्यसभा में मनोनीत सांसद स्वामी ने कहा कि विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि यूपीए सरकार ने अगस्ता वेस्टलैंड हेलीकॉप्टरों की निर्माता कंपनी फिनमेकैनिका को काली सूची में डाल दिया था, जो कि एक ‘झूठ’ है. 

tweet swamy

स्वामी ने आज एक ट्वीट में कहा, "मैंने उप सभापति द्वारा मेरे शब्दों को कार्यवाही से हटाए जाने को चुनौती देते हुए राज्यसभा में एक नोटिस दायर किया है क्योंकि यह मनमाना, अनुचित और राज्यसभा के नियमों के खिलाफ है."

कार्यवाही से हटी थी टिप्पणी


कांग्रेस के विरोध के बाद राज्यसभा के उपसभापति ने अगस्ता वेस्टलैंड मामले और अल्पसंख्यक संस्थानों को लेकर स्वामी की टिप्पणियों को सदन की कार्यवाही से निकाल दिया था.

संसद में एक मनोनीत सदस्य के रूप में प्रवेश करने के बाद से स्वामी द्वारा कांग्रेस पर निशाना साधने का सदन में कई बार विरोध हुआ है. ज्यादातर टिप्पणियां कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी को निशाना बनाकर की गई थीं. 

पढ़ें:अगस्ता वेस्टलैंड मामला: स्वामी ने लिया सोनिया का नाम, संसद में संग्राम

आजाद ने गुरुवार को कहा था कि स्वामी को इस सदन में आए गिने-चुने दो दिन ही हुए हैं और उनकी टिप्पणियां पहले ही दो बार कार्यवाही से निकाली जा चुकी हैं.

आजाद ने इस दौरान पूछा था कि एक साल में 365 दिन होते हैं, आप कितनी बार उनकी टिप्पणियों को कार्यवाही से हटाते रहेंगे. आजाद ने कहा था कि स्वामी, सड़कछाप भाषा और संसदीय भाषा में अंतर नहीं जानते.

इस बीच सुब्रमण्यम स्वामी ने अगस्ता वेस्टलैंड मामले को लेकर अपने ट्वीट में कहा, "बहुत जल्द इस मामले में बड़ा खुलासा होगा. 2017 तक राजनीति बदल जाएगी. "

tweet swamy2

First published: 1 May 2016, 12:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी