Home » इंडिया » Ahmadabad: 22,000 students shifted to municipal school from private school
 

अहमदाबाद नगर निगम की बड़ी उपलब्धि, 5 सालों में 22,000 छात्रों ने प्राइवेट स्कूल छोड़ा

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 July 2018, 12:28 IST

गुजरात के करीब 22,000 स्टूडेंट्स ने प्राइवेट स्कूल को छोड़ कर अहमदाबाद नगर निगम केस्कूलों में दाखिला लिया है. प्राइवेट स्कूलों की बढ़ती फीस और गुणवत्ता से असंतुष्ट अभिवावकों ने अपने बच्चों को प्राइवेट स्कूलों से निकाल कर म्युनिसिपल स्कूलों में एडमिशन करा दिया.

12 साल के ज़ैद मंसूरी ने अपने घर के पास बने प्राइवेट स्कूल में जाना बंद कर दिया. 6वीं का ये स्टूडेंट अब प्राइवेट स्कूल को छोड़ कर अहमदाबाद म्युनिसिपल स्कूल में जाता है. ज़ैद के पिता का कहना है कि पिछले सालों में जब ज़ैद के ग्रेड्स में कोई सुधार नहीं दिखा था तो उन्होंने उसे म्युनिसिपल स्कूल में शिफ्ट कर दिया. जिस स्कूल में खुद उन्होंने पढ़ाई की थी करीब पांच दशक पहले.

ये भी पढ़ें- तेजस एक्सप्रेस का हुआ भगवाकरण, अब बदले अवतार में भरेगी रफ़्तार

ज़ैद के पिता हसनभाई ने कहा, '' ज़ैद का रिजल्ट बहुत बुरा आया था, गुजराती माध्यम होने पर भी. प्रिंसिपल ने मुझसे कहा कि उन्होंने उनका बेस्ट किया. ऐसे में जब कोई सुधार नहीं है तो महीने का 590 और 700 रुपये की फीस क्यों दी जाए''. गौरतलब है कि हसनभाई मिर्जापुर में एक किराना की दुकान चलाते हैं.

हसनभाई की बहन ने भी अपने बेटे को प्राइवेट स्कूल से म्युनिसिपल स्कूल में शिफ्ट किया है. म्युनिसिपल स्कूल को प्राइवेट स्कूल से बेहतर बताते हुए हसनभाई ने कहा, ''क्लास 6 तक मैंने म्युनिसिपल स्कूल में पढाई की और कभी फेल नहीं हुआ फिर मैंने प्राइवेट स्कूल को शिफ्ट किया और मैं फेल हो गया. मैंने शिफ्ट इसलिए किया था क्योंकि म्युनिसिपल स्कूल केवल 6वीं क्लास तक ही था.''

ये भी पढ़ें- BJP के इस बड़े नेता ने दिया इस्तीफ़ा, TMC के थाम सकते हैं हाथ

हसनभाई ने आगे कहा, ''और भी कई लोगों ने विश्व भारती बाल विद्यालय से अपने बच्चों को शिफ्ट कर लिया क्योंकि वो इतनी महंगी फीस नहीं दे सकते थे. म्युनिसिपल स्कूल अब पहले से बेहतर हैं. पहले इन स्कूलों में इंटरनेट और कंप्यूटर नहीं होते थे, जोकि अब हैं.'' इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार 22 हजार स्टूडेंस ने प्राइवेट स्कूल से म्युनिसिपल स्कूल में शिफ्ट किया. ये शिफ्टिंग पिछले पांच सालों में हुई.

First published: 19 July 2018, 12:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी