Home » इंडिया » AIIMS contractual faculty members complain about salary discrimination
 

AIIMS कर्मचारियों ने स्वास्थ्य मंत्री को लिखा पत्र, कहा- सैलरी कम दी जा रही है

कैच ब्यूरो | Updated on: 25 July 2019, 17:02 IST

एम्स में अनुबंध के आधार पर काम कर रहे संकाय सदस्यों के एक समूह ने स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन को लिखा है. इनका आरोप है कि वेतन के मामले में उनके साथ भेदभाव किया जा रहा है. कर्मचारियों ने मांग की है कि उनका वेतन स्थायी संकाय सदस्यों के बराबर किया जाए.

प्रीमियर मेडिकल इंस्टीट्यूट में सहायक प्रोफेसर के रूप में काम करने वाले संविदा संकाय सदस्यों ने कहा कि वे स्थायी संकाय सदस्यों के समान काम करते है. लेकिन उन्हें रेजिडेंट डॉक्टरों की तुलना में वेतन बहुत कम मिल रहा है.

उन्होंने कहा कि इस तरह के भेदभाव केवल युवा और होनहार उम्मीदवारों को भविष्य में संस्थान में शामिल होने से रोकेगा." उन्होंने कहा कि मंत्री सहमत होंगे कि समान काम के लिए समान वेतन के हकदार हैं". पिछले कुछ वर्षों में कई संविदात्मक संकाय सीटें खाली रह गई हैं.

उन्होंने कहा कि एक व्यक्ति को अपने परिवार का भी ध्यान रखना पड़ता है, जो नई दिल्ली जैसे मेट्रो शहर में इस वेतन पर बेहद मुश्किल हो जाता है और वे पिछले एक साल से मंत्रालय को लिख रहे हैं, लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं की गई. यह पिछले साल केंद्रीय संस्थान निकाय में पहले ही अनुमोदित हो चुका था लेकिन अब तक इसके कोई अनुकूल परिणाम सामने नहीं आए हैं.

Jio की इस शिकायत ने तोड़ दी एयरटेल, वोडाफोन Idea की कमर, छिड़ सकता है घमासान

First published: 25 July 2019, 16:44 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी