Home » इंडिया » AIIMS doctors call off strike, threaten indefinite stir if demands not met by Bengal govt in 48 hours
 

48 घंटे में बंगाल सरकार ने मांगें पूरी नहीं की तो फिर हड़ताल करेंगे एम्स के डॉक्टर

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 June 2019, 10:52 IST

नई दिल्ली स्थित एम्स में रेजिडेंट डॉक्टरों ने शनिवार सुबह अपना विरोध प्रदर्शन बंद कर दिया और कहा कि वे काम पर लौट आएंगे. हालांकि एम्स एसोसिएशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स ने चेतावनी दी कि अगर पश्चिम बंगाल सरकार 48 घंटे के भीतर राज्य में मेडिकल प्रैक्टिशनरों की मांगों को पूरा करने में विफल रही तो अनिश्चितकालीन आंदोलन शुरू करेगी.

शुक्रवार को दिल्ली के कई निजी अस्पतालों के साथ एम्स, सफदरजंग, लोक नायक और जीटीबी अस्पतालों के डॉक्टर हड़ताल पर चले गए, जिससे स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गईं. वे बंगाल में अपने सहयोगियों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए खड़े थे, जो बंगाल में डॉक्टरों पर हुए हमले के विरोध में खड़े थे. एम्स के रेजिडेंट डॉक्टरों ने जवाहरलाल नेहरू ऑडिटोरियम में इकट्ठा होने के दौरान अपने चेहरे और शरीर पर पट्टियां पहनीं और डॉक्टरों के खिलाफ हिंसा के बढ़ते मामलों के बारे में बताया. उन्होंने कहा, “सरकार को पश्चिम बंगाल की स्थिति पर नियंत्रण करने की जरूरत है.

अगर हालात ऐसे ही रहे तो हम हड़ताल जारी रखेंगे. आरडीए ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री से मुलाकात कर उनसे हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया. फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (FORDA INDIA) ने कहा कि इस बीच, दिल्ली के 14 सरकारी अस्पतालों के रेजिडेंट डॉक्टर शनिवार को हड़ताल पर रहेंगे.

AIIMS-सफदरजंग पड़े ठप, मुश्किल में मरीज, स्वास्थ्य मंत्री ने की ये अपील

First published: 15 June 2019, 9:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी