Home » इंडिया » Air India plane crash into water on new year when 123 passengers were drone into ocean
 

नए साल का सबसे दर्दनाक आगाज... जब 213 यात्रिओं के साथ समंदर में समा गया था Air India का विमान

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 January 2019, 12:25 IST
(File Photo)

नए साल के आगाज के जश्न में आज पूरा देश और दुनिया जश्न में डूबा हुआ है. लेकिन एक नया साल ऐसा भी रहा है जब 213 लोगों के नया साल मौत का काल बनकर आया था. आज से 40 साल पहले आज ही के दिन एयर इंडिया का एक विमान 213 यात्रिओं के साथ समंदर में समा गया था. ये बोइंग 747 विमान 1978 में बंबई जो आज मुंबई है, अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से 213 यात्रिओं के साथ उड़ान भरने के कुछ ही समय बाद दुर्घटनाग्रस्त हो गया था.

इस विमान में उस समय 23 क्रू मेंबर्स समेत 190 यात्री मौजूद थे. लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि नए साल के पहले दिन ही ये विमान उड़ान भरने के कुछ समय बाद ही क्रैश हो गया और पूरा का पूरा विमान समंदर में समा गया.

इस घटना के बाद ये आशंका जताई जा रही थी कि ये प्लेन क्रैश किसी बड़ी साजिश का हिस्सा है. लेकिन समंदर से मिले विमान एक मलबे से सामने आया कि ये तकनीकी खराबी के चलते हुई एक दुर्घटना थी. ऐसे ही दुनिया और देश में नए साल के पहले दिन कई ऐसी घटनाए हुई हैं जो आज भी यादगार हैं.

जैसे 1925 में अमेरिका के टेलीफोन और टेलीग्राफ की शोध शाखा के रूप में बेल लेबोरेटरीज की स्थापना हुई थी. यह लैब 20वीं सदी की सबसे बेहतरीन इंजीनियरिंग शोध लैब बनी. ये इतिहास साल 1925 के पहले दिन ही रचा गया था. ऐसा ही इतिहास रचा गया था 1959 में जब 32 साल की उम्र में फिदेल कास्रो ने क्यूबा के तानाशाह फ्लुजेंसियो बतिस्ता का तख्ता पलट दिया और उसे वहां से भागना पड़ा.

ढाबे में खाने के साथ बेचा जाता था हवाई-जहाज का तेल, विमान ईंधन का ऐसे करते थे इस्तेमाल

साल 1978 भारत के लिए सबसे दर्दनाक नया साल रहा जब एयर इंडिया का विमान 213 यात्रियों के साथ क्रैश होकर समुद्र में गिर गया. वहीं मुंबई में 1992 में नये साल के जश्न में जहरीली शराब पीने से कम से कम 91 लोगों मौत हो गई. इतना ही नहीं ये नया साल इतना बुरा शुरू हुआ कि बहुत से लोगों की आंख और गुर्दे को नुकसान होने की वजह से वह जिंदगी भर के लिए अपाहिज हो गए.

First published: 1 January 2019, 10:31 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी