Home » इंडिया » Akhilesh Yadav and Mayawati join hands without Congress in Uttar Pradesh for Loksabha Election 2019
 

मायावती-अखिलेश ने राहुल गांधी को दिया बड़ा झटका, सीटों का बंटवारा तय, गठबंधन में कांग्रेस को नहीं दी जगह !

कैच ब्यूरो | Updated on: 19 December 2018, 15:19 IST

2019 लोकसभा चुनाव से पहले यूपी में बीएसपी सुप्रीमो मायावती और सपा मुखिया अखिलेश यादव ने कांग्रेस को बड़ा झटका दिया है. सूत्रों की मानें तो बसपा-सपा के बीच सीट बंटवारे की बात हो गई है. इस बंटवारें कांग्रेस को कोई जगह नहीं दी गई है. हालांकि खबर है कि इस गठबंधन में चौधरी अजीत सिंह की पार्टी रालोद को जगह दी गई है.

सूत्रों की मानें तो उत्तर प्रदेश में कुल 80 लोकसभा सीटों में से बीएसपी 38, समाजवादी पार्टी 37 और आरएलडी 3 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. वहीं दो सीटों रायबरेली और अमेठी में गठबंधन अपना उम्मीदवार नहीं उतारेगा. दरअसल, रायबरेली से सोनिया गांधी और अमेठी से राहुल गांधी चुनाव लड़ते हैं.

पढ़ें- 2019 में कट सकता है नरेंद्र मोदी का पत्ता ! नितिन गडकरी को PM उम्मीदवार बनाने की उठी मांग

माना जा रहा है कि इस गठबंधन का ऐलान बीएसपी सुप्रीमो मायावती के जन्मदिन के अवसर पर किया जाएगा. बसपा हर साल मायावती के जन्मदिन को धूमधाम से मनाती है. मायावती एक ब्लू बुक जारी करती हैं जिसमें हर साल के उनके काम और बीएसपी के वैचारिक नजरिए को रखा जाता है. बसपा लोकसभा चुनाव के लिहाज से इस बार एक बड़ा आयोजन कर सकती है. 

पढ़ें- बिहार: NDA में बड़ी फूट के आसार, उपेंद्र कुशवाहा के बाद राम विलास पासवान हो सकते हैं अलग

बता दें कि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में मोदी लहर में बीजेपी ने समाजवादी पार्टी को पांच, कांग्रेस को दो सीटों पर समेट दिया था. वहीं बीएसपी खाता भी खोलने में नाकाम रही थी. उस चुनाव में भाजपा को यूपी से 80 में से 71 सीटें और उसके सहयोगी दल अपना दल को 2 सीटें मिली थीं. यूपी में मिली इतनी बंपर सफलता ने ही केंद्र में मोदी सरकार बनाने में अहम भूमिका निभाई थी.

First published: 19 December 2018, 15:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी