Home » इंडिया » akhilesh Yadav says why Congress is out of alliance in uttar pradesh
 

'कांग्रेस ने बिगाड़ी चुनावी अंकगणित, इसलिए UP में गठबंधन से रखा गया बाहर'

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 January 2019, 9:29 IST

लोकसभा चुनाव 2019 के लिए उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी से टक्कर लेने के लिए 24 सालों की खटास भूल कर समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने हाथ मिलाया है. सपा-बसपा के इस गठबंधन में कांग्रेस को शामिल न किये जाने को लेकर कई सवाल खड़े हो रहे थे.

सपा प्रमुख और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इसका जवाब देते हुए कहा है कि चुनावी अंकगणित को ठीक करने के लिए इस बार कांग्रेस को गठबंधन से बाहर रखा गया है. अखिलेश यादव के इस जवाब से राजनीतिक गलियारों में एक और विमर्श शुरू हो गया है.

चुनावी गणित देखें तो ऐसा माना जाता है कि जो उत्तर प्रदेश जीतता है देश की जीत भी उसी के हाथ होती है. इसी के चलते इस बार उत्तर प्रदेश में 24 सालों पुरानी रंजिश भुलाकर सपा बसपा ने गठबंधन कर लिया है. लेकिन कांग्रेस को इस गठबंधन से बाहर रखने के सवालों पर अखिलेश ने जवाब देते हुए इसे चुनावी अंकगणित के तहत लिया गया निर्णय बताया है.

कांग्रेस को गठबंधन में शामिल न करे के सवालों पर एक समाचार एजेंसी को दिए इंटरव्यू में आपा प्रमुख अखिलेश ने कहा, ''अपने कार्यकाल में तमाम विकास कार्यों के बावजूद हम विधानसभा चुनाव हार गए, क्योंकि चुनावी अंकगणित ठीक नहीं था. इसलिए हमने बीएसपी और आरएलडी को साथ लेकर और कांग्रेस के लिए 2 सीट छोड़कर अंकगणित ठीक कर लिया.''

फिर बिगड़ी अमित शाह की तबियत, संकट में पड़ी BJP की झारग्राम रैली

गौरतलब है कि यूपी विधानसभा चुनाव में सपा कांग्रेस के साथ मिलकर चुनावी मैदान में उतरी थी. हालांकि इस सपा-कांग्रेस गठबंधन ने चुनावों में दोनों दलों का प्रदर्शन बेहद खराब रहा था. लेकिन इस बार लोकसभा चुनावों के लिए सपा बसपा ने चुनावी अंकगणित को ध्यान में रखते हुए गठबंधन बनाया है.

इसके तहत 38 सीटों पर बीएसपी और 37 सीटों पर एसपी लड़ेगी. वहीं इसमें अजीत सिंह के राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) के लिए 3 सीटें छोड़ी गई हैं. कांग्रेस को शामिल तो नहीं किया गया लेकिन इसमें कांग्रेस के लिए रायबरेली और अमेठी की सीट छोड़ी गई है.

बड़ी मूंछों वाले जवानों को उत्तर प्रदेश सरकार का तोहफा, मूछों के रख रखाव के लिए बढ़ाया गया भत्ता

 

 

First published: 23 January 2019, 9:29 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी