Home » इंडिया » Aligarh Panchayat bans mobile phones for minor girls
 

पंचायत फरमानः लड़कियां नहीं कर सकतीं मोबाइल का इस्तेमाल

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2017, 1:51 IST
QUICK PILL

अलीगढ़ में एक गांव की पंचायत ने तालिबानी फरमान सुनाते हुए 18 साल से कम उम्र की लड़कियों के मोबाइल इस्तेमाल पर पाबंदी लगा दी है. पंचायत का कहना है कि मोबाइल फोन लड़कियों को बिगाड़ रहा है. इस फरमान को न मानने वाली लड़कियां के परिवारों को गांव की सड़कें साफ करनी होंगी. इतना ही नहीं यह सजा शराब की बिक्री और सेवन पर भी लागू होगी.

यह मामला अलीगढ़ स्थित बसौली गांव में सामने आया है. गांव के बुजुर्ग रामवीर सिंह ने मीडिया को बताया कि उन्होंने इस आदेश के सख्त पालन के लिए तीन तरह की समितियां बनाई हैं. यह समितियां आदेश का पालन हो यह सुनिश्चित करने के साथ ही इस पर नजर रखेंगी कि कहीं कोई इस आदेश का उल्लंघन तो नहीं कर रहा.

रामवीर के मुताबिक, अगर कोई व्यक्ति शराब बेचता या सेवन करता हुआ पाया गया तो उसे सजा भी दी जाएगी. अगर कोई 18 साल से कम उम्र की लड़की मोबाइल फोन के साथ पाई गई तो उसे भी आठ दिनों तक सजा दी जाएगी. सजा के तौर पर उस व्यक्ति को आधा किलोमीटर सड़क की सफाई करनी पड़ेगी.

Women_Cellphone

फाइल फोटो

इस बीच शहर के एडीएम संजय चौहान ने कहा कि किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने की इजाजत नहीं है. अगर कोई संगठन किसी व्यक्ति के संवैधानिक अधिकारों का हनन करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

संजय चौहान ने एएनआई को बताया, "पंचायत के इस फरमान के बारे में हमें केवल मीडिया खबरों से ही पता चला है. पंचायतों की स्थापना छोटे मुद्दों को बातचीत से हल करने के लिए की गई थी. लेकिन इसका यह मतलब कतई नहीं कि यह किसी व्यक्ति को मिले संवैधानिक अधिकारों का हनन कर सकती है."

उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने एसडीएम को इसकी आधिकारिक रिपोर्ट पेश करने के लिए कहा है. जांच रिपोर्ट आने के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी.

वहीं, गांव की एक महिला ने इस आदेश का समर्थन करते हुए कहा कि पंचायत का यह फैसला सही है और यह लड़कियों की बेहतरी के लिए है, जिससे मानना चाहिए.

First published: 20 February 2016, 4:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी