Home » इंडिया » Alka Lamba tweets about Bhagavad Gita after suspension from Party spokesperson post
 

गाज गिरने के बाद आप विधायक अलका लांबा का गीता ज्ञान

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 June 2016, 11:46 IST
(फेसबुक)

गोपाल राय मामले में पार्टी लाइन से अलग हटकर बयान देने के बाद आम आदमी पार्टी ने अलका लांबा को प्रवक्ता पद से हटा दिया. इस बीच अलका लांबा ने ट्वीट करते हुए श्रीमद्भगवद्गीता दर्शन के बारे में बात की. 

इस मामले में कार्रवाई का अंदेशा अलका लांबा को शायद पहले ही हो चुका था. यही वजह है कि ट्विटर पर अलका लांबा ने अपनी बातों के जरिए इस ओर इशारा किया.

आज तेरा, कल किसी और का...

देर रात पहले ट्वीट में लांबा ने लिखा, "जो हुआ अच्छे के लिये हुआ, जो होता है अच्छे के लिये होता है, जो होगा अच्छे के लिये ही होगा, चिंता चिता के समान है. चिंतामुक्त और सुकून में हूं. शुभ रात्रि."

वहीं कार्रवाई की बात पक्की होने के बाद आज सुबह अलका लांबा ने ट्वीट किया, "जो कल किसी और का था, आज तेरा है, जो तेरा है कल किसी और का होगा, यह चक्र समय की सुई के साथ घूमता ही रहता है, यही जीवन भी है और हकीकत भी."

'पार्टी की अनुशासित कार्यकर्ता'

इसके बाद अपने अगले ट्वीट में अलका लांबा ने लिखा, "मैं पार्टी की एक अनुशासित कार्यकर्ता हूं और पार्टी के हर फैसले का सम्मान करती हूं, मुझसे अनजाने में भी अगर कोई गलती हुई होगी, तो मैं उसका पश्चाताप जरूर करुँगी, ताकि मेरी वजह से पार्टी की भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई को किसी भी तरह का कोई भी नुकसान न पहुंचे. जय हिन्द!"

इस बीच प्रवक्ता पद से दो महीने के लिए हटाए जाने के बाद अलका लांबा की पहली आधिकारिक प्रतिक्रिया आई है. अलका लांबा ने कहा कि उन्हें पार्टी से इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिली है.

पार्टी लाइन के खिलाफ बयान

अलका लांबा ने दरअसल पार्टी लाइन से अलग हटकर बयान दिया था कि प्रीमियम बस घोटाले में आरोप लगने पर गोपाल राय ने इस्तीफा दिया है, ताकि जांच हो सके.

अलका लांबा ने जो कहा, वो आम आदमी पार्टी की लाइन नहीं थी. आप और केजरीवाल सरकार ने यही कहा है कि खराब सेहत के कारण गोपाल राय ने परिवहन विभाग छोड़ा है.

पढ़ें: स्वास्थ्य वजहों से दिल्ली के परिवहन मंत्री गोपाल राय का इस्तीफा

अलका लांबा के बयान से ये संदेश गया कि घोटाले के आरोप के कारण गोपाल राय को पद छोड़ना पड़ा. अलका लांबा ने ये बयान तब दिया जब गोपाल राय घोटाले के मामले में एसीबी के सामने पूछताछ के लिए पेश हुए थे.

क्या है गोपाल राय का विवाद?

गोपाल राय ऐप बेस्ड प्रीमियम बस सर्विस योजना को लेकर विवादों में है. आरोप है कि गोपाल राय निजी कंपनी को फायदा पहुंचा रहे थे. बीजेपी विधायक विजेंद्र गुप्ता की शिकायत पर एसीबी पूरे मामले की जांच कर रही है.

गोपाल राय ने कहा है कि प्रीमियम बस सर्विस मामले में उनका कोई रोल नहीं है. गोपाल राय ने बीते सोमवार को परिवहन मंत्री के अपने पद से इस्तीफा दे दिया था. राय के मुताबिक डॉक्टर्स ने उन्हें काम का बोझ कम करने के लिए आराम की सलाह दी है.

गोपाल राय के इस्तीफे के बाद परिवहन मंत्रालय फिलहाल लोक निर्माण विभाग के मंत्री सत्येंद्र जैन को सौंपा गया है.

कौन हैं अलका लांबा?

अलका लांबा चांदनी चौक से आम आदमी पार्टी की विधायक हैं. पार्टी ने उन्हें प्रवक्ता पद की भी जिम्मेदारी दी थी. अलका लांबा पहले कांग्रेस में रह चुकी हैं और दिल्ली विश्वविद्यालय छात्र संघ की अध्यक्ष भी रही हैं.

अरविंद केजरीवाल जब वाराणसी से लोकसभा चुनाव लड़ने गये थे, उस वक्त अलका लांबा ने वहां उनके प्रचार की कमान संभाल रखी थी. दिल्ली विधानसभा में अलका लांबा से ही विवाद के चलते बीजेपी के विधायक ओपी शर्मा की सदस्यता खतरे में है.

बीजेपी विधायक ओपी शर्मा ने अलका लांबा को लेकर विवादित टिप्पणी की थी.

First published: 16 June 2016, 11:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी