Home » इंडिया » All medical stores closed in india bharat bandh of All India Organisation of Chemists
 

अभी खरीद लें सारी जरुरी दवाएं क्योंकि बंद रहेंगे देशभर के मेडिकल स्टोर

कैच ब्यूरो | Updated on: 28 September 2018, 11:23 IST

आज देश भर के करीब 8 लाख मेडिकल स्टोर्स बंद रहेंगे. देशव्यापी इस हड़लात से देशवासियों को काफी नुकसान हो सकता है. ऑल इंडिया ऑर्गनाइजेशन ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट ने रात 12 बजे से 24 घंटे की हड़ताल बुलाई है. इस हड़ताल के तहत ये दावा है कि पूरे देश में इसके चलते देश भर की साढ़े आठ लाख दुकानें बंद रहेंगी. हालांकि अस्पतालों के अंदर की दुकानें इस दौरान भी खुली रहेंगी. और इमरजेंसी काउंटर पर भी दवा मिल सकेगी.

गौरतलब है कि वॉलमार्ट-फ्लिपकार्ट डील और विदेशी निवेश के विरोध में पूरे देश के कारोबारियों ने बंद का ऐलान किया है. इस बंद के चलते चिंताजनक बात ये है कि दवा की दुकानें भी इस बंद में शामिल हैं. आम जनता को अचानक किसी जरुरत के चलते दवा खरीदने में काफी मुश्किलों का सामना का पड़ सकता है. व्यापारियों के बड़े संगठन कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स ने देश भर के सारे छोटे और बड़े बाजार को बंद रखने का फैसला किया है.

क्यों बुलाया गया बंद
इस बंद के बारे में कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने एक बयान में कहा है, “देश के सभी व्यावसायिक बाजार बंद रहेंगे और कोई व्यावसायिक गतिविधि नहीं होगी. इस बंद में देश भर के सात करोड़ से अधिक छोटे कारोबारियों के हिस्सा लेने की संभावना है.”

केरल के सबरीमाला मंदिर पर SC का ऐतिहासिक फैसला, हर उम्र की महिलाएं कर सकती हैं प्रवेश

संगठन का दावा है कि दिल्ली के कारोबारियों द्वारा ‘व्यापार बंद’ का आयोजन किया जाएगा. इस बंद के चलते सभी थोक और खुदरा बाजार बंद रहेंगे. कैट के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने आगे इस बारे में बताया कि वालमार्ट-फ्लिपकार्ट सौदे और एफडीआई के खिलाफ जंतर-मंतर पर कल धरना दिया जाएगा.

वहीं ऑल इंडिया ऑर्गनाइजेशन ऑफ केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष जेएस शिंदे ने कहा, ''ऑनलाइन दवाओं की बिक्री पर रोक लगनी चाहिए. e फार्मेसी सरकार द्वारा बैन की हुई दवाई भी बेच रही है. हाल ही में सरकार ने 328 तरह की दवाइयों को प्रतिबंधित किया लेकिन ऐसी दवाएं ऑनलाइन आपको मिल जाएंगी.''

First published: 28 September 2018, 11:23 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी