Home » इंडिया » Alwar Lynching: Postmortem report of Rakbar says cause of death was injuries sustained over body
 

रकबर की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में खुलासा- पिटाई से टूटी हड्डियां और पसली

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 July 2018, 12:34 IST

राजस्थान के अलवर में कथित गो-तस्करी के शक में मॉब लिंचिंग का शिकार हुए रकबर खान की पोस्टमार्ट रिपोर्ट सामने आई है. रिपोर्ट के मुताबिक रकबर के एक पैर और हाथ की हड्डी टूटी हुई है. रकबर को अंदरूनी चोटें भी आई हैं जिससे उसे अंदरूनी रक्तस्त्राव हुआ है.

रिपोर्ट के अनुसार, रकबर की दो जगह से पसलियां भी टूटी हुई थीं और शरीर पर करीब 12 जगह चोट के निशान भी हैं. डॉक्टरों का कहना है कि गहरी चोटें लगने से कई बार मरीज सदमे में चला जाता है और उसकी मौत हो जाती है.

 

बता दें कि इस मामले में अब तक 4 पुलिसवालों के खिलाफ कार्रवाई हुई है. दरअसल, मामले में पुलिस की भूमिका पर सवाल उठे हैं. आरोप है कि पुलिस रकबर को अस्पताल ले जाने की बजाय गाय के लिए गाड़ी का इंतजाम कर रही थी.

पढ़ें- लिचिंग पर बोले राहुल गांधी- मोदी के क्रूर 'न्यू इंडिया' में इंसान को मरने के लिए छोड़ दिया जाता है

आरोप यह भी है कि पुलिस मौके पर पहुंची तो जरूर, लेकिन रकबर को अस्पताल ले जाने की बजाय ढाई घंटे से ज़्यादा समय तक यहां-वहां घुमाती रही. इसके बाद उसे थाने ले गई. इस मामले में पता चला है कि रकबर भीड़ के हाथों जितना घायल नहीं हुआ उससे ज़्यादा वो पुलिस की हिरासत में हुआ और यही उसकी जान जाने की वजह बनी.
 
रकबर की एक फोटो भी सामने आई है. इसमें रकबर पुलिस की वैन में बैठा और जिंदा है. उसके चेहरे पर बाईं तरफ कुछ चोट के निशान भी देखे जा सकते हैं. सीसीटीवी फुटेज से पता चला है कि पुलिस 3.47 तक उसे सड़क पर घुमा रही थी. मामले में रकबर के भाई का कहना है कि उसके भाई की पिटाई हुई है. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट भी कहती है कि रकबर की मौत पिटाई के चलते अंदरूनी खून बहने से हुई.

First published: 24 July 2018, 12:34 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी