Home » इंडिया » Amar Singh Says On Mulayam Singh Yadav Statement in Lok Sabha
 

PM मोदी को लेकर लोकसभा में दिए मुलायम के बयान पर अमर सिंह का तंज

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 February 2019, 10:11 IST

लोकसभा में पीएम मोदी को लेकर दिए मुलायम सिंह यादव के बयान ने सब को हैरान कर दिया. मुलायम सिंह के इस बयान को किसी राजनीतिक चाल से कम नहीं समझा जा रहा है. मुलायम के पुराने साथी रहे अमर सिंह यादव ने उनके इस बयान पर तंज करते हुए कहा कि खनन घोटाले में कोई एक्शन ना हो इसलिए मुलायम सिंह यादव ने इस तरह का बयान दिया है.

अमर सिंह ने कहा कि मुलायम ऐसा बयान इसलिए दे रहे हैं, ताकि चंद्रकला और रामा रमन के केस में उन्हें फायदा मिल सके और नरेंद्र मोदी को बड़ा एक्शन ना ले पाएं. ये बात उन्होंने न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कही. उन्होंने कहा कि, ‘’ये बयान सिर्फ कन्फ्यूजन फैलाने के लिए दिया जा रहा है, ताकि चंद्रकला और रामा रमन के जो मामले चल रहे हैं जिन्होंने मुलायम सिंह यादव और मायावती के राज में भ्रष्टाचार किया था वह मामला दब सके. और प्रधानमंत्री मोदी को बड़ा एक्शन न ले सकें.’’

बता दें कि बुधवार को लोकसभा में मुलायम सिंह यादव ने पीएम मोदी को लेकर एक बयान दिया था. जिसमें उन्होंने कहा कि कि मैं चाहता हूं कि नरेंद्र मोदी दोबारा से देश के प्रधानमंत्री बनें. उनके इस बयान के बाद लोग अलग-अलग मतलब निकालने लगे. ऐसे में अमर सिंह ने भी उनके इस बयान पर टिप्पणी कर दी. बता दें कि इससे पहले समाजवादी पार्टी आजम खान ने भी कहा कि मुलायम सिंह यादव के बयान से वह काफी दुखी हैं, ये बयान उनका नहीं है बल्कि उनसे दिलवाया गया है.

क्या है यूपी में भ्रष्टाचार का मामला

बता दें कि कुछ दिन पहले सीबीआई ने IAS अधिकारी बी. चंद्रकला के घर पर छापेमारी की थी. चंद्रकला अपने अभियानों के चलते सोशल मीडिया पर काफी लोकप्रिय रही हैं. रेत के अवैध खनन से जुड़े मामले में सीबीआई ने बी. चंद्रकला सहित कई अधिकारियों के ठिकाने पर छापे मारे थे. चंद्रकला की छवि कड़क और ईमानदार अफसर की रही है, लेकिन सीबीआई के छापे के बाद से ही वह निशाने पर आ गई थीं.

बता दें कि बीएस चंद्रकला के ठिकानों पर जिस खनन घोटाले को लेकर छापेमारी हुई, वह खनन उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव की सरकार के कार्यकाल के दौरान हुआ था. इतना ही नहीं खनन मंत्रालय की जिम्मेदारी भी उन्हीं के पास थी. छापेमारी के बाद इस मामले की आंच अखिलेश यादव तक भी पहुंच सकती है.

ये भी पढ़ें- CBSE: आसान हुए 10वीं और 12वीं के पेपर पैटर्न, इस बदलाव से आएंगे ज्यादा मार्क्स

First published: 14 February 2019, 10:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी