Home » इंडिया » Amarinder Singh removed this anti-India app from Google Play Store
 

गूगल प्ले स्टोर से अमरिंदर सिंह ने हटवाया ये भारत विरोधी App

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 November 2019, 14:58 IST

Google ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के अनुरोध पर 'गूगल प्ले स्टोर से एक भारत विरोधी एप को हटा दिया. '2020 सिख रेफरेंडम’ नामक मोबाइल ऐप अब गूगल पर मौजूद नहीं है. पंजाब सरकार द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार इस एप पर लोगों से पंजाब 'रेफरेंडम 2020 खालिस्तान' के पक्ष में मतदान करने के लिए रजिस्टर करने के लिए कहा जा रहा था. रिलीज में कहा गया है कि विश्लेषण से पता चला है कि ऐप पर पंजीकृत मतदाताओं का डेटा ‘yestoKhalistan.org’ नामक वेबसाइट के वेब सर्वर पर सेव किया गया था.

ऐसा माना जाता है कि इस वेबसाइट को एक यूएस-आधारित अलगाववादी समूह सिख्स फॉर जस्टिस द्वारा बनाया गया है. जिसे भारत द्वारा इस साल जुलाई में प्रबंधित किया गया था. प्रतिबंध के बाद अमरिंदर सिंह ने कहा था कि यह  भारत विरोधी अलगाववादी डिजाइनों से राष्ट्र की रक्षा करने की दिशा में पहला कदम है. पंजाब रेफरेंडम 2020 एक अनौपचारिक ऑनलाइन जनमत संग्रह है, जो दावा करता है कि वह वर्तमान में भारत के कब्जे वाले पंजाब को मुक्त करने के लिए काम कर रहा है.

पंजाब के डिजिटल जांच प्रशिक्षण और विश्लेषण केंद्र (DITAC) साइबर लैब ने नवंबर की शुरुआत में भारत में Google की कानूनी टीम के सामने यह मुद्दा उठाया था. कहा था कि यह एप भारत विरोधी गतिविधियों में बढ़ा रहा है. यह अभियान सिखों के लिए एसएफजे द्वारा आयोजित किया जा रहा है. यह संगठन 2007 में गठित किया गया था जो सिखों के लिए एक अलग देश चाहता है.

 

एसएफजे का कहना है कि वह नवंबर 2020 में पंजाब और उत्तरी अमेरिका, यूरोप, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, मलेशिया, फिलीपींस, सिंगापुर, केन्या और मध्य पूर्वी देशों के प्रमुख शहरों में इस तथाकथित जनमत संग्रह को आयोजित करने की योजना बना रहा है. वेबसाइट में कहा गया है कि एक बार जब पंजाबी लोगों के बीच यह सहमति बन जाती है कि भारत से आज़ादी चाहिए तो हम पंजाब को एक राष्ट्र के रूप में स्थापित करने के लक्ष्य के साथ संयुक्त राष्ट्र और अन्य अंतरराष्ट्रीय रूपों और निकायों से संपर्क करेंगे.

जनमत संग्रह के माध्यम से अभियान पंजाब के लिए स्वतंत्रता के समर्थन में कम से कम 50 लाख वोट प्राप्त करना चाहता है. जिसके बाद वह संयुक्त राष्ट्र से संपर्क करने की योजना बना रहा है. पंजाब पुलिस ने कहा है कि SFJ और रेफरेंडम 2020 दोनों ही पाकिस्तान द्वारा समर्थित हैं.

दिल्ली : स्पा सेंटर वाले कर रहे थे लोगों के ATM कार्ड की क्लोनिंग, लूट चुके थे 25 लाख

First published: 21 November 2019, 14:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी